Jansandesh online hindi news

कंफर्म टिकट पर भी टीटीई ने मजदूरों को ट्रेन से उतारा , तेरी औकात नहीं राजधानी एक्‍स. में सफर करने की

कोडरमा, जासं। तुम सब छोटा आदमी हो, तुम्हारी औकात नहीं है राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन में सफर करने की। ज्यादा बोलोगे तो पांच हजार रुपये का जुर्माना लगा देंगे। टीटीई के खिलाफ यह शिकायत है उन दो मजदूरों की, जो राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन से वैध टिकट पर भुवनेश्वर जा रहे थे। दोनों मजदूरों ने कोडरमा स्टेशन की
 | 
कंफर्म टिकट पर भी टीटीई ने मजदूरों को ट्रेन से उतारा , तेरी औकात नहीं राजधानी एक्‍स. में सफर करने की

कोडरमा, जासं। तुम सब छोटा आदमी हो, तुम्‍हारी औकात नहीं है राजधानी एक्‍सप्रेस ट्रेन में सफर करने की। ज्‍यादा बोलोगे तो पांच हजार रुपये का जुर्माना लगा देंगे। टीटीई के खिलाफ यह शिकायत है उन दो मजदूरों की, जो राजधानी एक्‍सप्रेस ट्रेन से वैध टि‍कट पर भुवनेश्‍वर जा रहे थे। दोनों मजदूरों ने कोडरमा स्टेशन की शिकायत पुस्तिका में इस मामले की लिखित शिकायत की है। दोनों मजदूर नई दिल्ली भुवनेश्वर राजधानी एक्‍सप्रेस के बी2 कोच में सफर करने के लिए चढ़े थे। उन्‍होंने मामले में टीटीई पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

कंफर्म टिकट पर भी टीटीई ने मजदूरों को ट्रेन से उतारा , तेरी औकात नहीं राजधानी एक्‍स. में सफर करने की
मजदूरों ने ट्रेन से उतरने के बाद कोडरमा स्टेशन की शिकायत पुस्तिका में यह आरोप लगाते हुए मामला दर्ज किया है। दोनों मजदूर काम करने के लिए हजारीबाग जिले के बरही से विजयवाड़ा जा रहे थे।

कहा है कि बुधवार को अहले सुबह 5. 22 बजे वे लोग कंफर्म टिकट लेकर कोडरमा से भुवनेश्वर जाने के लिए ट्रेन में सवार हुए थे, लेकिन टीटीई ने उन्हें यह कहते हुए धक्का देकर उतार दिया कि तुम लोग मजदूर हो। तुम्हारी औकात नहीं है इस ट्रेन में सफर करने की। ज्यादा बोलोगे तो ₹5000 का फाइन काट देंगे। इसके बाद वे लोग कोडरमा स्टेशन मास्टर के कार्यालय में गए और वहां शिकायत पुस्तिका में कंप्लेन दर्ज कराया।

 

शिकायत करने वाले मजदूर रामचंद्र यादव और अजय यादव ने बताया कि दोनों विजयवाड़ा में पोकलेन ऑपरेटर का काम करते हैं। दोनों बरही के बरसोत के निवासी हैं। कोडरमा से भुवनेश्वर जाने के लिए बुधवार को ट्रेन में सवार हो रहे थे। इसके लिए उन्होंने ऑनलाइन टिकट बुक कराया था। इस संबंध में बात करने पर कोडरमा स्टेशन प्रबंधक एके सिंह ने बताया कि दोनों यात्रियों की शिकायत धनबाद रेल मंडल के वरीय अधिकारियों के पास भेज दी गई है।