Jansandesh online hindi news

चिली : इस देश में कोरोना संक्रमितों का पता लगा रहे हैं डोग्स, एयरपोर्ट पर किए गए तैनात

सैंटियागो, रॉयटर्स। चिली में कुत्ते सूंघकर कोरोना संक्रमितों का पता लगा रहे हैं। सैंटियागो इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर गोल्डन रिट्रीवर्स और लैब्राडोर कुत्तों की एक टीम तैनात की गई है जो सूंघकर कोरोना संक्रमितों का पता लगा रहे हैं। ये कुत्ते एक लाल क्रॉस के साथ कैनाइन स्पोर्ट ग्रीन ‘बायोडिटेक्टर’ जैकेट में रहते हैं। बताया गया कि
 | 
चिली : इस देश में कोरोना संक्रमितों का पता लगा रहे हैं डोग्स, एयरपोर्ट पर किए गए तैनात

सैंटियागो, रॉयटर्स। चिली में कुत्ते सूंघकर कोरोना संक्रमितों का पता लगा रहे हैं। सैंटियागो इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर गोल्डन रिट्रीवर्स और लैब्राडोर कुत्तों की एक टीम तैनात की गई है जो सूंघकर कोरोना संक्रमितों का पता लगा रहे हैं। ये कुत्ते एक लाल क्रॉस के साथ कैनाइन स्पोर्ट ग्रीन ‘बायोडिटेक्टर’ जैकेट में रहते हैं।

चिली : इस देश में कोरोना संक्रमितों का पता लगा रहे हैं डोग्स, एयरपोर्ट पर किए गए तैनात
कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए प्रशिक्षित कुत्तों को पहले ही संयुक्त अरब अमीरात और फिनलैंड में हवाई अड्डों पर यात्रियों के नमूनों को सूंघने के लिए तैनात कर दिया गया है। इसके लिए इन्हें ट्रेनिंग दी गई है।

बताया गया कि यात्री अपनी गर्दन और कलाई को पैड से पोंछकर एक कांच के कंटेनर में ड़ाल देते हैं। इसके बाद यह कंटेनर कुत्तों को भेजा जाता है ताकि वो कोरोना संक्रमित का पता लगा सकें। इसके लिए कुत्तों को ट्रेनिंग दी गई है। इससे पहले तक स्निफर कुत्ते ड्रग्स और विस्फोटक खोजने के लिए प्रसिद्ध थे और अब ये मलेरिया, कैंसर, पर्किंसंस और कोविड-19 रोगियों का पता लगाने का भी काम कर रहे हैं। कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए प्रशिक्षित कुत्तों को संयुक्त अरब अमीरात और फिनलैंड में हवाई अड्डों पर यात्रियों के नमूनों को सूंघने के लिए तैनात कर दिया गया है।

हाल ही में एक अध्ययन में पाया गया कि कुत्ते 85 फीसद से 100 फीसद सटीकता के साथ संक्रमित व्यक्तियों की पहचान कर सकते हैं जिसमें से 92 से 99 फीसद तक यह सटीकता सही निकलती है।