Jansandesh online hindi news

ट्रम्प ने कहा- ‘अमेरिका विरोधी दंगे’ जिम्मेदार केनोशा में हुए विनाश के लिए

वाशिंगटन। केनोशा में 23 अगस्त को एक अश्वेत व्यक्ति की पुलिस की गोली से मौत होने के बाद हुए हिंसकप्रदर्शन के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शहर का दौरा किया। ट्रंप ने इस विनाश के लिए ‘अमेरिका विरोधी दंगों’ को जिम्मेदार ठहराया है। यहां के राज्य और स्थानीय नेताओं द्वारा ट्रंप से यहां से
 | 
ट्रम्प ने कहा- ‘अमेरिका विरोधी दंगे’ जिम्मेदार केनोशा में हुए विनाश के लिए

वाशिंगटन। केनोशा में 23 अगस्त को एक अश्वेत व्यक्ति की पुलिस की गोली से मौत होने के बाद हुए हिंसकप्रदर्शन के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शहर का दौरा किया। ट्रंप ने इस विनाश के लिए ‘अमेरिका विरोधी दंगों’ को जिम्मेदार ठहराया है। यहां के राज्य और स्थानीय नेताओं द्वारा ट्रंप से यहां से दूर रहने का आह्वान करने के बावजूद मंगलवार को उन्होंने इस शहर का दौरा किया। नेताओं ने चेतावनी दी थी कि उनकी यात्रा से शहर में तनाव बढ़ेगा। राष्ट्रपति ने विरोध प्रदर्शन में क्षतिग्रस्त हुए क्षेत्रों का भी दौरा किया।

बाद में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, “केनोशा को पुलिस विरोधी और अमेरिकी विरोधी दंगों ने तबाह कर दिया है।”

समाचार एजेंसी ने राष्ट्रपति के हवाले से कहा, “आप कुछ दिन पहले नर्क से गुजरे थे, लेकिन मैं सुरक्षित महसूस करता हूं। हम कानून लागू होने के कारण सुरक्षित हैं।”

उन्होंने कहा कि उनका प्रशासन केनोशा में कानून प्रवर्तन के लिए 10 लाख डॉलर, स्थानीय छोटे व्यवसायों में मदद करने के लिए 40 लाख डॉलर और सार्वजनिक सुरक्षा के प्रयासों को मदद देने के लिए 40.2 लाख डॉलर देंगे।

रिपोर्ट के अनुसार, ट्रंप ने 29 वर्षीय पीड़ित जैकब ब्लेक के परिवार से मुलाकात नहीं की, क्योंकि जैकब ने अपने वकीलों को शामिल करने का अनुरोध किया था, जिसे राष्ट्रपति ने ‘अनुचित’ कहा।

तीन बच्चों के पिता ब्लेक को 23 अगस्त को एक श्वते पुलिस अधिकारी ने पीठ में सात बार गोली मारी थी। इससे वे लकवाग्रस्त हो गए और अब शहर के एक अस्पताल में भर्ती हैं।

इसके दो दिन बाद 17 वर्षीय एक श्वेत लड़के ने दो प्रदर्शनकारियों की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

सोमवार को न्यूज के साक्षात्कार में ट्रंप ने केनोशा अधिकारी की आलोचना करते हुए कहा, “किसी व्यक्ति को पीछे से इतनी गोलियां मारना – मेरा मतलब है, क्या आप कुछ अलग नहीं कर सकते थे?”

डेमोकट्रिक राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रपति खुद अशांति और नस्लीय संघर्ष का एक महत्वपूर्ण कारण हैं।

एक बयान में बाइडेन ने कहा, “दंगाई विरोध नहीं कर रहे हैं। लूटपाट करना, आग लगाना विरोध करना नहीं है। यह कानून विहीन है और जो लोग ऐसा करते हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। हिंसा से बदलाव नहीं आएगा। यह केवल विनाश लाएगा। यह हर तरह से गलत है।”

इससे पहले 25 मई को एक अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की एक श्वेत पुलिस अधिकारी ने हत्या कर दी थी, जिसके बाद पुलिस क्रूरता और नस्लवाद के खिलाफ राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन छिड़ गए थे।

2016 में ट्रंप विस्कॉसिन में मुश्किल से 23,000 वोटों से जीते थे। मंगलवार को जारी मॉर्निग कंसल्टिंग पोल में सामने आया है कि बाइडेन को विस्कॉन्सिन में ट्रंप पर 9 अंकों की बढ़त हासिल थी।