Jansandesh online hindi news

पाकिस्तान : दूसरे पुरुष से संबंध रखने के आरोप में महिला को पत्‍थरों से मार-मारकर दी गई सजा-ए-मौत, दो गिरफ्तार

लाहौर, पीटीआइ। पाकिस्तान में महिला को पत्थरों से मार-मारकर मौत की सजा देने वाले बुजुर्गों के कवायली परिषद ‘जिरगा’ के दो सदस्यों को गिरफ्तार है। पुलिस में दर्ज मामले के अनुसार पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कबाइली परिषद चलती हैं। जिनकी अपनी परंपरा है। ये लोग अपने परिवार के कथित सम्मान को लेकर ‘ओनर किलिंग’ कर
 | 
पाकिस्तान : दूसरे पुरुष से संबंध रखने के आरोप में महिला को पत्‍थरों से मार-मारकर दी गई सजा-ए-मौत, दो गिरफ्तार

लाहौर, पीटीआइ। पाकिस्तान में महिला को पत्थरों से मार-मारकर मौत की सजा देने वाले बुजुर्गों के कवायली परिषद ‘जिरगा’ के दो सदस्यों को गिरफ्तार है। पुलिस में दर्ज मामले के अनुसार पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कबाइली परिषद चलती हैं। जिनकी अपनी परंपरा है। ये लोग अपने परिवार के कथित सम्मान को लेकर ‘ओनर किलिंग’ कर देते हैं। इस पुरानी परंपरा को यहां ‘कारो-कारी’ का नाम दिया हुआ है।

पाकिस्तान : दूसरे पुरुष से संबंध रखने के आरोप में महिला को पत्‍थरों से मार-मारकर दी गई सजा-ए-मौत, दो गिरफ्तार
पाकिस्तान में किसी दूसरे पुरुष से संबंध रखने के आरोप में एक महिला की पत्थरों से मार-मारकर हत्‍या कर दी गई है। इस मामले में कवायली परिषद जिरगा के दो सदस्यों को गिरफ्तार है। इससे पहले महिला से संबंध रखने पर एक पुरुष को ऐसे मार डाला गया था।

ऐसे ही एक मामले में छह लोगों की कवाइली परिषद ने नौ बच्चों की मां को पत्थरों से मार-मारकर मौत की सजा दे दी। यह घटना लाहौर से चार सौ किमी दूर मुजफ्फरागढ़ में हुई। यहां के पुलिस अधिकारी मेहर हुसैन ने बताया कि महिला को एक पुरुष से संबंध रखने के आरोप में उसकी हत्या की गई। इस संबंध में दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इससे पहले महिला से संबंध रखने वाले पुरुष को भी जून माह में ऐसे ही मार डाला गया था।

अब इस घटना में शामिल सभी जिरगा सदस्यों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। उल्‍लेखनीय है कि यह घटना ऐसे वक्‍त सामने आई है जब पाकिस्‍तान की अल्‍पसंख्‍यकों और महिलाओं के साथ हो रहे अत्‍याचार को लेकर दुनियाभर में बदनामी हो रही है। अंतरराष्‍ट्रीय दबावों का आलम यह है कि पाकिस्‍तान को दुष्कर्म के मामलों की सुनवाई में तेजी लाने के लिए विशेष अदालतों के गठन का एलान करना पड़ा है।

प्रधानमंत्री इमरान खान ने इन अदालतों के गठन के लिए ‘एंटी-रेप ऑर्डिनेंस’ लाए जाने की बात कही है। पाकिस्तानी मंत्री अवान ने बीते दिनों बताया कि देश में दुष्कर्म के मामलों में इजाफे को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। पाकिस्‍तान में हाल के वर्षों में महिलाओं और नाबालिगों के साथ दुष्कर्म की घटनाओं के सभी रिकॉर्ड टूट गए हैं। पाकिस्‍तान में बीते कुछ सालों में 21 हजार से ज्यादा दुष्कर्म के मामले हुए हैं। इनमें से महज कुछ सैकड़ा मामलों में ही सुनवाई शुरू हो सकी है।