Jansandesh online hindi news

फिर से पांव पसार रहा बलूचिस्तान में आतंकवाद

क्वेटा (पाकिस्तान)| पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में देश की खुफिया एजेंसी और सुरक्षाबलों ने लगातार जांच जारी रखी है, क्योंकि आतंकी तत्वों ने प्रांत के विभिन्न हिस्सों से आतंकी हमले जारी रखे हैं। ये लोग लक्षित हमले, अपहरण और विस्फोट जैसे वारदात को अंजाम दे रहे हैं, जिससे सुरक्षाबलों के प्रदर्शन पर गंभीर सवाल खड़ा हो
 | 
फिर से पांव पसार रहा बलूचिस्तान में आतंकवाद

क्वेटा (पाकिस्तान)| पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में देश की खुफिया एजेंसी और सुरक्षाबलों ने लगातार जांच जारी रखी है, क्योंकि आतंकी तत्वों ने प्रांत के विभिन्न हिस्सों से आतंकी हमले जारी रखे हैं। ये लोग लक्षित हमले, अपहरण और विस्फोट जैसे वारदात को अंजाम दे रहे हैं, जिससे सुरक्षाबलों के प्रदर्शन पर गंभीर सवाल खड़ा हो रहा है और इससे स्थानीय लोगों के बीच डर का माहौल है।

हाल ही की एक घटना में, एक फुटबॉल स्टेडियम की दीवार के बाहर, अज्ञात बदमाशों द्वारा लगाए गए बम विस्फोट में कम से कम 14 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

विवरण के अनुसार, बलूचिस्तान के जिले लासबेला के हब शहर में एक स्टेडियम मेंफुटबॉल मैच के दौरान लगाए गए बम से विस्फोट हो गया।

पुलिस अधिकारियों ने कहा, “अज्ञात बदमाशों ने अल्लाबाद क्षेत्र में फुटबॉल ग्राउंड की दीवार के बगल में एक आईईडी लगाई, जो विस्फोट हो गया।”

जिला पुलिस अधिकारी तारिक इलाही मस्तोई ने कहा, “फुटबॉल मैच देखने वाले 14 लोग उस विस्फोट में घायल हो गए, जिसने औद्योगिक शहर को हिला कर रख दिया था।”

घायलों को जिला अस्पताल के हब में ले जाया गया और अस्पताल के अधिकारियों के अनुसार इनकी हालत गंभीर है।

मस्तोई ने कहा, “सौभाग्य से, कोई फुटबॉल खिलाड़ी विस्फोट में घायल नहीं हुआ।”

अब तक, किसी भी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। हालांकि, विस्फोट के पीछे की मंशा साफ लग रही थी। फुटबॉल मैच शहीद पुलिस अधिकारियों को सम्मानित करने के लिए आयोजित किया गया था।

पाकिस्तान बलूचिस्तान प्रांत से आतंकी गतिविधि को जड़ से खत्म करने के लिए कड़ी लड़ाई लड़ रहा है और सुरक्षा मापदंडों को लागू करने की कोशिश कर रहा है।

पाकिस्तान ने कहा है कि बलूचिस्तान प्रांत में ऐसे कई समूह हैं जो देश की वृद्धि और विकास को अस्थिर करने के उद्देश्य से अस्थिरता फैलाते हैं और आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देते हैं।

पाकिस्तान ने भारत पर बलूचिस्तान में आतंकी संगठनों का समर्थन करने और अशांति फैलाने के लिए उन्हें बढ़ावा देने, वित्तपोषण करने और उन्हें सुविधा देने का भी आरोप लगाया है।

पाकिस्तान का कहना है कि कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी इस बात का सबूत है कि भारत अपने पड़ोसी को अस्थिर करने के लिए अपने एजेंडे को काम करने की दिशा में काम कर रहा है।