Jansandesh online hindi news

फ्रांस : राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की हालत स्थिर, कोरोना वायरस से हैं संक्रमित

पेरिस, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की हालत स्थिर है। फ्रांस के 42 वर्षीय राष्ट्रपति मैक्रों बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे। आरटी-पीसीआर टेस्ट के बाद मैक्रों सात दिनों के लिए सेल्फ आइसोलेशन में चले गए हैं। 17 दिसंबर से उन्होंने पेरिस से बाहर अपने एक आधिकारिक अवास से अपना काम
 | 
फ्रांस : राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की हालत स्थिर, कोरोना वायरस से हैं संक्रमित

पेरिस, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की हालत स्थिर है। फ्रांस के 42 वर्षीय राष्ट्रपति मैक्रों बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे। आरटी-पीसीआर टेस्ट के बाद मैक्रों सात दिनों के लिए सेल्फ आइसोलेशन में चले गए हैं। 17 दिसंबर से उन्होंने पेरिस से बाहर अपने एक आधिकारिक अवास से अपना काम कर रहे हैं।

फ्रांस : राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की हालत स्थिर, कोरोना वायरस से हैं संक्रमित
फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। वह अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सहित विश्व के उन तमाम शीर्ष नेताओं की फेहरिस्त में शामिल हो गए हैं जो कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं।

इससे पहले इमैनुएल मैक्रों ने खुद के कोरोना संक्रमित होने के लिये लापरवाही और अपनी खराब किस्मत को दोषी ठहराया था। उन्होंने देशवासियों से अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखने का आग्रह किया था। मैक्रों ने शुक्रवार को एक वीडियो साझा की, जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें सिरदर्द, थकान और सूखी खांसी हो रही है। उन्होंने अपने स्वास्थ्य के बारे में रोजाना जानकारी देने की बात भी कही।

वहीं, फ्रांस में मैक्रों के कोरोना वायरस की चपेट में आने की आलोचना हो रही है। कहा जा रहा है कि उन्होंने ऐसे समय में लापरवाहियां बरती हैं, जब देश में कोविड-19 मामलों में फिर से उछाल देखा जा रहा है और डॉक्टर लोगों के ऐहतियात बरतने की सलाह दे रहे हैं। आलोचकों कहना है कि उन्होंने संक्रमण से बचाव में लापरवाहियां बरतीं, जिसमें लोगों से हाथ मिलाना और बीते सप्ताह कई बार सामूहिक रूप से भोजन किया जाना शामिल हैं।
बता दें कि पिछले सप्ताह यूरोपीय संघ के सम्मेलन के दौरान मैक्रों के साथ समय बिताने वाले स्लोवाकिया के प्रधानमंत्री इगोर मैटोविक भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। मैक्रों ने सोमवार को आर्थिक सहयोग एवं विकास संगठन के प्रमुख एंजेल गुरिया से बैठक के दौरान हाथ मिलाया था और गले भी मिले था। हालांकि दोनों ने मास्क पहन रखा था, लेकिन मैक्रों के कार्यालय ने शुक्रवार को स्वीकार किया कि यह एक गलती थी।