Jansandesh online hindi news

विधायक के घर में ली है पनाह ‘लक्ष्मी’ लेकर लापता इंस्पेक्टर ने !

लाखों की ‘लक्ष्मी’ लेकर लापता हुईं लिंक रोड थाने की निलंबित एसएचओ लक्ष्मी चौहान के पश्चिमी यूपी के एक विधायक के घर पर छिपे होने की बात सामने आ रही है। सूत्रों के मुताबिक, थाने से फरार होने से पहले लक्ष्मी चौहान ने सत्तारूढ़ पार्टी के इस विधायक के मोबाइल पर फोन कर मदद मांगी थी। सहमति
 | 
विधायक के घर में ली है पनाह ‘लक्ष्मी’ लेकर लापता इंस्पेक्टर ने !

लाखों की ‘लक्ष्मी’ लेकर लापता हुईं लिंक रोड थाने की निलंबित एसएचओ लक्ष्मी चौहान के पश्चिमी यूपी के एक विधायक के घर पर छिपे होने की बात सामने आ रही है। सूत्रों के मुताबिक, थाने से फरार होने से पहले लक्ष्मी चौहान ने सत्तारूढ़ पार्टी के इस विधायक के मोबाइल पर फोन कर मदद मांगी थी। सहमति मिलने के बाद वह अपने साथियों के बीच गबन की रकम का बंटवारा कर छिप गई।

सूत्रों का कहना है कि पुलिस अधिकारियों को भी महिला इंस्पेक्टर के विधायक के घर में छिपे होने की जानकारी है, लेकिन प्रदेश की राजनीति में उनकी अच्छी पकड़ होने की वजह से पुलिस छापेमारी से कतरा रही है। बाकी आरोपितों की लोकेशन भी पता चल गई है। सूत्रों के अनुसार, गाजियाबाद के अधिकारियों ने इस बात की जानकारी मेरठ में बैठे आला अफसरों को दे दी है। लक्ष्मी चौहान की अग्रिम जमानत पर 14 अक्टूबर को कोर्ट में सुनवाई होनी है। इस मामले में सीओ से लेकर जिले के पुलिस कप्तान भी कुछ बोलने से बच रहे हैं। सभी का कहना है कि टीमें दबिश दे रही है और जल्द ही सभी आरोपितों को पकड़ लिया जाएगा।

सभी आरोपित पकड़ से बाहर

साहिबाबाद साइट-4 औद्योगिक क्षेत्र स्थित सीएमएस इन्फो सिस्टम कंपनी एटीएम में कैश डालने का काम करती है। कंपनी ने 22 अप्रैल को लिंक रोड थाने में अपने कैश कस्टोडियन एजेंट राजीव सचान पर करीब 72.50 लाख रुपये के गबन का केस दर्ज कराया था। कंपनी ने जांच कराई तो यह मामला साढ़े तीन करोड़ रुपये के गबन का निकला। पुलिस ने 24 सितंबर की रात राजीव सचान को उसके साथी आमिर के साथ गिरफ्तार कर उनसे 1.15 करोड़ रुपये बरामद किए।

पुलिस ने बरामदगी सिर्फ 45,81,500 रुपये की दिखाई। 60 से 70 लाख का हेरफेर सामने आने पर एसएसपी ने लिंक रोड थाने की एसएचओ लक्ष्मी सिंह चौहान सहित 7 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था। इस मामले में लिंक रोड पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। तभी से आरोपित पुलिसकर्मी फरार चल रहे हैं।