Jansandesh online hindi news

हैरिस से बेहतर प्रत्‍याशी है मेरी बेटी इवांका, उसे बनना चाहिए अमेरिका की पहली महिला राष्ट्रपति , ट्रंप बोले

वाशिंगटन, एजेंसियां। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) ने उपराष्ट्रपति पद की डेमोक्रेट प्रत्याशी कमला हैरिस पर निशाना साधते हुए अपनी बेटी को उनसे ज्यादा काबिल बताया है। यही नहीं उन्होंने अपनी बेटी को अगली राष्ट्रपति का बेहतर दावेदार भी बता दिया है। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि मेरी बेटी इवांका ट्रंप को
 | 

वाशिंगटन, एजेंसियां। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) ने उपराष्ट्रपति पद की डेमोक्रेट प्रत्याशी कमला हैरिस पर निशाना साधते हुए अपनी बेटी को उनसे ज्यादा काबिल बताया है। यही नहीं उन्‍होंने अपनी बेटी को अगली राष्‍ट्रपति का बेहतर दावेदार भी बता दिया है। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि मेरी बेटी इवांका ट्रंप को अमेरिका की पहली महिला राष्ट्रपति बनना चाहिए।’ न्यू हैंपशायर में अपने समर्थकों के बीच ट्रंप ने भारतीय मूल की सीनेटर हैरिस की काबिलियत पर सवाल उठाए।

हैरिस से बेहतर प्रत्‍याशी है मेरी बेटी इवांका, उसे बनना चाहिए अमेरिका की पहली महिला राष्ट्रपति , ट्रंप बोले
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उपराष्ट्रपति पद की डेमोक्रेट प्रत्याशी कमला हैरिस पर निशाना साधते हुए अपनी बेटी को उनसे ज्यादा काबिल बताया।

उपराष्ट्रपति बनने लायक भी नहीं हैं हैरिस

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा, ‘हैरिस पहले राष्ट्रपति पद की रेस में थीं। अब वह उपराष्ट्रपति बनने की कोशिश कर रही हैं। वह इस पद के लायक भी नहीं हैं। मुझे कतई नहीं लगता कि 2024 के चुनाव में हैरिस डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति प्रत्याशी हो सकती हैं। मैं चाहता हूं कि अमेरिका में पहली महिला राष्ट्रपति बने। मुझे यह भी लगता है कि इस पद के लिए मेरी बेटी और सलाहकार इवांका ज्यादा बेहतर उम्मीदवार है। अब तो लोग भी कहने लगे हैं कि वे इवांका को महत्वपूर्ण पद पर देखना चाहते हैं।

अपने हितों को नजरअंदाज नहीं करेगा अमेरिका

रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति प्रत्याशी बनने का औपचारिक प्रस्ताव स्वीकार करने के बाद ट्रंप की यह पहली रैली थी। डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि डेमोक्रेटिक पार्टी लोगों को केवल सपने दिखा सकती है। ऐसे सपने जो कभी पूरे नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि हम दोबारा जीत कर आएंगे और देश को आगे बढ़ाएंगे। किसी को खुश करने के लिए अमेरिका अपने हितों को नजरअंदाज नहीं करेगा।

चुनाव में सेना की कोई भूमिका नहीं

उधर, ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टॉफ के चेयरमैन मार्क मिली ने दो डेमोक्रेट सांसदों के सवालों के लिखित जवाब में कहा है कि राष्ट्रपति चुनाव प्रक्रिया के संचालन और वोटिंग विवाद के निपटारे में सेना की कोई भूमिका नहीं हो सकती। चुनाव को लेकर कोई विवाद पैदा होने पर अमेरिकी अदालतें और अमेरिकी संसद इसका निपटारा करेगी। इसमें सेना का क्या काम। वह अराजनीतिक अमेरिकी सेना के सिद्धांत में पूरा विश्वास रखते हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा की बजाय राजनीतिक लाभ के लिए सेना के इस्तेमाल का आदेश मिले तो क्या करेंगे? मिली ने कहा, ‘मैं गैरकानूनी आदेश का पालन नहीं करूंगा।’