जानिए किस धातु का कछुआ रखने से बढ़ता है धन

अक्सर लोग गुडलक पाने के लिए ज्योतिष का सहारा लेते हैं। ऐसे में वह कोई रत्न या माला धारण करते हैं। जिसमें कई तरह के रत्न शामिल रहते हैं। हर व्यक्ति अपनी कुंडली व अपने गुणों के हिसाब से रत्न मौजूद है जिसे वह ज्योतिषीय सलाह लेने के बाद पहनता है।
फेंगशुई और वास्तु शास्त्र में कछुए की आकृतियों और अंगुठियों को बेहद ही शुभ माना जाता है। माना जाता है कि कछुआ यदि आपके घर में रखा है तो घर की सारी नकारात्मक शक्तियां इसके होने से नष्ट हो जाती हैं।

Keeping the tortoise ends Vastu fault also. It is also considered to be a good source of gratification for money. Being in this house keeps happiness in life and the mind remains calm.
Keeping the tortoise ends Vastu fault also. It is also considered to be a good source of gratification for money. Being in this house keeps happiness in life and the mind remains calm.

कछुआ रखने से वास्तु दोष भी समाप्त हो जाता है। यह धन में बरकत दिलाने का भी एक अच्छा स्रोत माना जाता है। इसके घर में होने से जीवन में खुशहाली बनी रहती है और मन भी शांत रहता है।
यह धन और सौभाग्य दोनों में भी वृद्धि करता है। कछुए की आकृति लेकिन सभी नहीं कुछ कछुओं की ऐसी धातुएं होती हैं जिन्हें घर में रखने से अत्याधिक लाभ होता है।

Read More :घर के मंदिर में भूलकर भी न रखें ये 4 मूर्तियां, छिन जाएगा हर सुख

पीठ पर कछुए का बच्चा
एक ऐसा कछुआ जिसकी पीठ पर एक कछुए का बच्चा हो। उसे घर में रखने से संतान प्राप्ति में विशेष कारगर माना जाता है। जो दंपति इस सुख से वंचित हों उन्हें इस कछुए की प्रतिमा लाकर घर में रखनी चाहिए।

आइए आज जानते हैं एक ऐसी ही अगूठी के बारे में जिसे गुडलक के लिए लोग पहनते हैं। इसे ज्योतिष और वास्तु दोनों का हिस्सा माना गया है। यह है कछुए की अंगूठी।

कछुए की अंगूठी का असर इतना माना जाता है कि यह दुर्भाग्य को भागय में बदल देने की ताकत रखती है। लेकिन इसे पहनने के लिए कुछ नियमों का पालन करना भी बेहद जरूरी है।

Read More : 71 करोड़ रुपये एक साल में कमाता है 6 साल का रेहान

कछुए की अंगूठी सीधे हाथ की मध्यमा यानि बीच की अंगुली में पहनें। इसे धारण करने का सबसे शुभ दिन शुक्रवार माना गया है क्योंकि यह समृद्धि का भी प्रतीक है।

हाथ में पहनी जाने वाली कछुए की अंगूठी ऐसी होनी चाहिए जिसमें कि कछुए का सिरा आपकी तरफ हो। ध्यान रहे कि कछुए का मुख बाहर की ओर न हो वरना इसका नकारात्मक असर हो सकता है।

इसे शुक्रवार के दिन धारण करने के लिए घर के मंदिर में मां लक्ष्मी की मूर्ति के सामने रख दें और दूध तथा पानी के साथ धोएं, फिर पूजा करें और अंत में इसे धारण कर लें। माना जाता है कि इसे धारण करने से सुख-समृद्धि-धैर्य निरंतर बना रहता है।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.