fbpx
Advertisements
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

इन कमियों के कारण खराब होता है बच्चों का भविष्य!

वैज्ञानिकों ने पाया है कि एक वयस्क और एक बच्चे के बीच होने वाली बातचीत बच्चे के मस्तिष्क में बदलाव कर सकती है और यह बातचीत उसके भाषाई विकास के लिए ज्यादा महत्त्वपूर्ण साबित हो सकती है।

tips-to-talk-with-children_

अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि उच्च-आय परिवारों के बच्चे कम आय वाले परिवार के बच्चों की तुलना में अपने जीवन के शुरुआती तीन सालों में करीब तीन करोड़ ज्यादा शब्द सुनते हैं।

“तीन करोड़ शब्दों का यह अंतर” शब्दावली, भाषाई विकास और पठन बोध की जांच में महत्त्वपूर्ण अंतरों से परस्पर संबंधित होता है।

‘साइकोलॉजिकल साइंस’ पत्रिका में प्रकाशित हुए इन परिणामों में पाया गया है कि बच्चों को किसी बातचीत में शामिल कर परिजन उनकी भाषा और मस्तिष्क विकास पर विशेष रूप से प्रभाव डाल सकते हैं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।