अवनि एयरबेस से मिग-21 उड़ाने वाली पहली भारतीय महिला बनीं

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

नयी दिल्ली. भारतीय वायुसेना यानी कि इंडियन एयर फोर्स की फ्लाइंग ऑफिसर अवनि चतुर्वेदी एक बार फिर चर्चा में हैं. हाल ही में उन्होंने गुजरात के जामनगर एयरबेस से अकेले मिग-21 उड़ाया है. ऐसा करने वाली वह पहली भारतीय महिला बन गई हैं. आइए जानें इस खास मौके पर जाबांज अवनि चतुर्वेदी की निजीजिंदगी के बारे में…
अवनि चतुर्वेदी मध्यप्रदेश रीवा की रहने वाली हैं. इन्होंने राजस्थान की वनस्थली यूनिवर्सिटी से कम्प्यूटर साइंस से बीटेक किया है. अवनी के पिता मध्य प्रदेश सरकार में एक्जीक्यूटिव इंजीनियर हैं. वहीं इनके भाई आर्मी में हैं.

किसी खतरे से नहीं घबराती

अवनी बचपन से ही आर्मी आदि की बातों में काफी ज्यादा रुचि रखती थी. वह इस सेक्टर की हर चीज के बारे में काफी बारीकी से जानने की कोशिश करती थी. इसके अलावा वह अपनी लाइफ में किसी खतरे से नहीं घबराती थीं.

कॉलेज का वो दिन अच्छे से याद

अवनि को अपनी कॉलेज लाइफ का वो दिन आज भी अच्छे से याद है, जब उन्हें फ्लाईंग क्लब में विमान में उड़ने का मौका मिला. इसके बाद ही उन्होंने तय किया था कि वह भारतीय वायुसेना में फाइटर प्लेन में पायलट बनेंगी.

टेनिस खेलना और चित्रकारी पसंद

इसके बाद जाबांज अवनी चतुर्वेदी ने हैदराबाद की वायु सेना अकादमी से अपनी ट्रेनिंग पूरी की. अवनी को एक स्पोर्ट लाइफ में काफी इंट्रेस्ट हैं. अवनी टेनिस खेलना पसंद करती हैं. इसके अलावा उन्हें चित्रकारी करना भी बहुत पसंद है.

लड़ाकू स्क्वाड्रन में शामिल हुई

अवनी चतुर्वेदी भारत की पहली महिला लड़ाकू पायलटों में से एक है. यह जून, 2016 में भारतीय वायु सेना के लड़ाकू स्क्वाड्रन में शामिल हुई थीं. अवनि के साथ मोहना सिंह और भावना कंठ भी इस मिशन में शामिल हुई थीं.

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.