fbpx
Advertisements
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

 पीके-मोदी का साथ 2019 के चुनाव में फिर एक बार देखने को मिलेगा !

नई दिल्ली,  2019 में लोकसभा चुनाव होने वाले है ऐसे में बीजेपी पर इतिहास दोहराने का दबाव रहेगा। अब सवाल ये उठता है कि क्या प्रधानमंत्री उसी रणनीतिकार के साथ दोबारा काम करेंगे जिसने उन्हें 2014 चुनाव में प्राचंड़ बहुमत दिलाई थी। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 2019 के लोकसभा चुनावों में प्रशांत किशोर, नरेंद्र मोदी के चुनाव अभियान की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं। बताया जा रहा है कि हाल ही में दोनों दिग्गजों की मुलाकात हुई थी। संभावनाएं हैं कि प्रशांत एक बार फिर मोदी के चुनावी रथ के सारथी बन सकते हैं।

pk-modi2

प्रशांत ने बनाई है अपनी अलग पहचान
पिछले कुछ सालों में प्रशांत ने अपनी अलग ही पहचान बना ली है। पहले तो 2012 में गुजरात विधानसभा चुनाव और फिर 2014 में लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी की जीत के बाद प्रशांत किशोर पर सबकी नजर थी। लेकिन कुछ ऐसे कारण बने की मोदी और प्रशांत की राह अलग हो गई।

सूत्रों के मुताबिक पिछले छह महीने से एक दूसरे के संपर्क में हैं। दोनों के बीच सीधा संवाद हुआ। इस बैठक में लोकसभा चुनाव में मोदी टीम में प्रशांत किशोर की भूमिका पर चर्चा हुई। खबरों के अनुसार प्रशांत किशोर की मुलाकात बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से भी हुई है।

pk-modi3
pk-modi3

अमित शाह और प्रशांत के बीच हुआ था मनमुटाव
आपको बता दें कि 2014 लोकसभा चुनाव में प्रशांत किशोर के बीजेपी से अलग होने का कारण अमित शाह और उनके बीच मनमुटाव बताया जा गया था। किशोर अगर का बार फइर बीजेपी के साथ काम करते हैं तो जाहिर सी बात है कि वह सीधे पीएम मोदी के प्रचार अभिययान की कमान खुद संभालेंगे।

बता दें कि पीएम मोदी एंड टीम से अलग होने के बाद प्रशांत नीतीश कुमार के संपर्क में आए और महागठबंधन के लिए काम किया जिसके आगे खुद बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद साल 2016 में किशोर कांग्रेस से जुड़े। हाल ही में वो आंध्र प्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस के लिए काम कर रहे थे।

Read More  : हार्ट अटैक से नहीं बल्कि श्रीदेवी की मौत इस एक वजह से हुई, सच जानकर रह जाएंगे हैरान

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।