एक और घोटाला, Aircel ने बैंकों से की 15,500 करोड़ की ठगी!

नई दिल्ली  , 12,500 करोड़ के पीएनबी महाघोटाले के बाद देशभर में कई धोखाधड़ी के मामले सामने आए है। वहीं दिवालिया हो चुकी टेलिकॉम कंपनी एयरसेल ने भी देश को करोड़ों का चुना लगा दिया है। एक निजी न्यूज चैनल की रिपोर्ट के अनुसार एयरसेल ने भारत के 15,500 करोड़ रुपये डकार कर खुद को दिवालिया घोषित कर दिया है।

बता दें कि कंपनी ने मुंबई में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में 28 फरवरी को खुद को दिवालिया घोषित करने के लिए आवेदन दिया था जिसे एनसीएलटी ने मंजूर कर लिया है। एयरसेल के मालिक आनंद कृष्णन जोकि मलेशियाई नागरिक हैं। एयरसेल कंपनी ने 2009 में भारतीय स्टेट बैंक समेत कंसोर्शियम और स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक से 14,300 करोड़ रुपये का कर्ज लिया था। तब एयरसेल ने बैंकों के पास 2जी स्पेक्ट्रम की गारंटी रखी थी जिसकी तब कीमत महज 1650 करोड़ रुपये थी।

बैंकों ने इतनी कम कीमत की गारंटी पर कंपनी को 10,000 करोड़ रुपये का कर्ज दे दिया जबकि बाकी के कर्ज के लिए विदेशी स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक ने मूल बैंकिंग एक्सेस कंपनी की संम्पत्ति की गारंटी रख ली।’कंपनी को 2जी स्पेक्ट्रम लाइसेंस पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर मिला था। बैंकों के पास एयरसेल की कोई भी ऐसी संम्पत्ति नहीं है जिसे बैंक बेचकर कर्ज की भरपाई कर सके।

आपको बता दें कि एयरसेल कंपनी भारत में पांचवें नंबर पर दूरसंचार का काम कर रही थी। 13 सर्किल में इस कंपनी के पास 2जी स्पेक्ट्रम के लाइसेंस थे लेकिन उस लाइसेंस की नीलामी के बावजूद कुल कर्ज और देनदारी का 10वां हिस्सा भी पूरा नहीं हो पाएगा।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.