जानिये कहां पर प्रधानमंत्री को जब जूते में परोसा गया खाना!

यरूशलम। इसराईल में जापानी प्रधानमंत्री को जूते में खाना परोसने की बात वायरल हो गई है. जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और उनकी पत्नी जब 2 मई को इसराईल दौरे पर थे तो इसराईली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और उनकी पत्नी सारा नेतन्याहू के साथ पीएम आवास पर डिनर के लिए गए उन्हें आमंत्रित किया गया जहा तो नेतन्याहू ने आबे को जूते में खाना परोसा. इस मेहमाननवाजी को लेकर इसराईली पीएम की खूब खिचाई की जा रही है. इसराईल के मशहूर शेफ मोशे सेगेव ने डिनर के अंत में डेजर्ट के रूप में चुनिंदा चॉकेलट धातु के बने जूते में रखकर पेश किया.।

japani-pm-in-israil_
japani-pm-in-israil_

मोशे नेतन्याहू के निजी शेफ भी हैं. अब इस मामले को लेकर हंगामा हो रहा है. दरअसल दुनिया की ज्यादातर संस्कृति की तरह जापानी संस्कृति में जूते को अपमानजनक माना जाता है. जापानी संस्कृति के मुताबिक जापानी न सिर्फ अपने घरों में बल्कि दफ्तरों में भी जूते बाहर निकाल कर ही जाते हैं. इतना ही नहीं प्रधानमंत्री और अन्य दूसरे मंत्री भी अपने कार्यालय में जूते पहन कर नहीं जा सकते।

japani-pm-in-israil_
japani-pm-in-israil_

आबे ने डेजर्ट जूते में डिनर पर कोई आपत्ति नहीं ली मगर जापानी और इसराईली राजनयिकों को यह बात ज्यादा पसंद नहीं आई. एक जापानी राजनयिक ने इस की निंदा करते हुए कहा है कि दुनिया में ऐसी कोई संस्कृति नहीं है जिसमें जूतों को टेबल पर रखा जाता है. अगर ये मजाक था तो हमें ये मजेदार नहीं लगा. हम अपने प्रधानमंत्री के साथ हुए इस व्यवहार से नाराज हैं. इधर इसराईल के विदेश विभाग ने एक स्टेटमेंट जारी कर कहा है कि हमारे शेफ काफी क्रिएटीव हैं और हम उनके काम की तारीफ करते हैं. शेफ मोशे सेगवे ने अपने इंस्टाग्राम पर डेजर्ट जूते की तस्वीर भी डाली थी।

 

जिस पर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएं भी आई. एक यूजर ने लिखा कि जब आप राजनयिकों को खाना परोस रहे हैं तो आपको कम से कम एक बार उनके बारे में पता लगाना चाहिए. जापान में जूतों को बेहद अपमानजनक माना जाता है. वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा की ये देश इस बात को कभी भूल नहीं पाएगा. सेगेव मैं तु्म्हें बहुत प्यार करता था, लेकिन तुमने हमें शर्मिंदा कर दिया. एक राष्ट्र के प्रधानमत्री को इस तरह की शर्मिंदगी शायद ही कभी सहनी पड़ी हो जापान के ज्यादातर लोग इस बात से खफा है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.