Advertisements

INTERNATIONAL YOGA DAY पर उतराखंड में होंगे PM मोदी

नई दिल्ली: योग का अर्थ ‘एकता’ या ‘बांधना’ है. इस शब्द की जड़ है संस्कृत शब्द ‘युज’, जिसका मतलब है ‘जुड़ना’. आध्यात्मिक स्तर पर इस जुड़ने का अर्थ है सार्वभौमिक चेतना के साथ व्यक्तिगत चेतना का एक होना. व्यावहारिक स्तर पर, योग शरीर, मन और भावनाओं को संतुलित करने और तालमेल बनाने का एक साधन है. यह योग या एकता आसन, प्राणायाम, मुद्रा, बँध, षट्कर्म और ध्यान के अभ्यास के माध्यम से प्राप्त होती है. तो योग जीने का एक तरीका भी है और अपने आप में परम उद्देश्य भी.

yoga-training
yoga-training

आज से नहीं योग सदियों से एक सही जीवन यापन का विज्ञान है और आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में जहा इंसान को खुद का और खुद के स्वास्थ्य का जरा भी ख़याल नहीं है इसे दैनिक जीवन में शामिल किया जाना बेहद जरुरी है. योग  भौतिक, मानसिक, भावनात्मक, आत्मिक और आध्यात्मिक पहलुओं के जरिये मानव विकास में अहम् भूमिका निभाता है.

योग सबसे पहले लाभ पहुँचाता है बाहरी शरीर को, जो ज्यादातर लोगों के लिए एक व्यावहारिक और परिचित शुरुआती जगह है. बाहरी शरीर के बाद योग मानसिक और भावनात्मक स्तरों पर काम है. रोज़मर्रा की जिंदगी के तनाव और बातचीत के परिणामस्वरूप बहुत से लोग अनेक मानसिक परेशानियों से पीड़ित हैं. योग इनका इलाज शायद नहीं प्रदान करता लेकिन इनसे मुकाबला करने के लिए यह सिद्ध विधि है. हर वर्ष योग के प्रति जागरूकता फ़ैलाने के लिए विश्वभर में 21 जून को योग दिवस के रूप में मनाया जाता है.

 21 जून को होने वाले विश्व योग दिवस पर पीएम मोदी उतराखंड में होंगे यह जानकारी प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दी है. दरअसल, मोदी सरकार के 4 साल पूर्ण होने पर उत्तराखंड में एक समारोह रखा गया है, उसीमे शिरकत करने पीएम मोदी उत्तराखंड जा रहे है. रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड के प्रति प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार के मन में विशेष स्नेह है और अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री देहरादून आएंगे.

राउत ने बताया कि समारोह का संभावित आयोजन स्थल एफआरआई बिल्डिंग के निकट हो सकता है. मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार के चार साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री मोदी एवं देशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि देश के चहुंमुखी विकास और सभी के कल्याण के लिये मोदी सरकार ने ढेरों कदम उठाए हैं. उन्होंने कहा कि चार वर्षों में केंद्र सरकार के किसी भी मंत्री पर भ्रष्टाचार संबंधी कोई आरोप नहीं है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का न्यू इण्डिया का विजन देश को खुशहाली और तरक्की के रास्ते पर ले जाने के लिये पथ प्रदर्शक है. अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर देश की मान-प्रतिष्ठा में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है. आपको बता दें कि योग दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री समेत मोदी सरकार के तमाम मंत्री अलग-अलग राज्यों में योग करके जागरुकता अभियान चलाते हैं. इससे पहले प्रधानमंत्री राजपथ पर योग कर चुके हैं.

Advertisements
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.