fbpx
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के डॉ हाथी का निधन, जाने से पहले कहा ‘आने में असमर्थ हूँ’……

मशहूर टीवी शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में डॉक्टर हंसराज हाथी का रोल न‍िभाने वाले एक्टर कव‍ि कुमार आजाद का न‍िधन हो गया है. आजाद लंबे वक्त से इस शो में जुड़े हुए थे. आजाद की मौत, हार्ट अटैक की वजह से हुई है.

आजाद की अचानक हुई मौत की वजह से शो के से जुड़े कलाकारों को गहरा सदमा लगा है. रिपोर्ट्स के मुताबिक आज फिल्म स‍िटी में तय शेड्यूल के मुताबिक एप‍िसोड की शूट‍िंग होनी थी, ज‍िसे कैंसल कर द‍िया गया है.

एक्टर की मौत पर शो के प्रोड्यूसर अस‍ित कुमार मोदी ने दुख जताया है. उन्होंने आजतक से कहा, “कव‍ि कुमार आजाद बहुत सकारात्मक इंसान थे. वो हमेशा सेट पर वक्त से आते थे. चाहे उनकी तब‍ीयत ही खराब क्यों न हो. आज सुबह उन्होंने मुझे फोन किया और कहा, मैं शूट पर आने में असमर्थ हूं मेरी तबीयत थोड़ी खराब है. लेकिन थोड़ी देर बाद ही हमें खबर मिली कि वो अब इस दुन‍िया में नहीं रहे. ये खबर सुनकर हम सब हैरान हैं.”

कुछ द‍िनों पहले एक्टर के ट्व‍िटर अकाउंट से एक तस्वीर पोस्ट की गई थी. इस तस्वीर में एक्टर ने कहा था- “किसी ने कहा है कल हो न हो, मैं कहता हूं पल हो न हो. हर लम्हा जियो.”

आजाद की मौत से टीवी इंडस्ट्री को बहुत बड़ा झटका लगा है. मीड‍िया रिपोर्ट के मुताबिक एक्टर ने 2010 में अपना 80 किलो वजन सर्जरी से कम किया था. इस सर्जरी के बाद उन्हें रोजाना की ज‍िंदगी में काफी आसानी हो गई थी. एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, “मुझे खुशी है कि लोगों ने मुझे मेरे किरदार के लिए पसंद किया.” बताने की जरूरत नहीं कि “तारक मेहता का उल्टा चश्मा” की वजह से ही कवि कुमार आजाद की पहचान घर-घर में हुई.

10 साल पहले ऑनएयर हुआ था शो

ये शो गुजराती में छपे एक कॉलम “दुनिया ने उन्धा चश्मा” (Duniya Ne Undha Chashma) का हिस्सा है. इसे पत्रकार तारक मेहता ने गुजराती की साप्ताहिक पत्रिका “चित्रलेखा” के लिए लिखा था. ये भारत में सबसे ज्यादा समय से चलने वाला स्क्रिप्टेड शो है. आज से 10 साल पहले 28 जुलाई 2008 में ये शो ऑन एयर हुआ था.

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।
%d bloggers like this: