Advertisements

हड़ताल पर सरकार की सख्त: इतने लेखपालों की सेवा समाप्त, सर्विस ब्रेक का नोटिस जारी

लखनऊ । दिन भर मान-मनौव्वल के बाद हड़ताली लेखपाल काम पर नहीं लौटे तो जिला प्रशासन ने सख्त रुख अख्तियार कर लिया। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने 44 नए लेखपालों की सेवा खत्म करने का आदेश दिया है। बाकी 194 सीनियर लेखपालों की सर्विस ब्रेक की गई है। सर्विस बुक पर बैड एंट्री से प्रमोशन के साथ अन्य लाभ मिलने बंद हो जाएंगे।

शासन से आदेश मिलने के बाद बुधवार को सुबह से जिला प्रशासन ऐक्शन मोड में आ गया। लेखपाल संघ के पदाधिकारियों के साथ वार्ता कर हड़ताल वापस न लेने पर होने वाले नुकसान के बारे में अवगत करवाया गया। लेकिन पदाधिकारी बिना नियमावली जारी हुए हड़ताल खत्म न करने पर अड़े रहे। इसके बाद राजस्व परिषद के पदाधिकारियों की मीटिंग में तय हुआ कि 44 नए लेखपालों को वापस काम पर लाया जाए। इसके लिए उन्हें नोटिस थमाया गया। लेकिन लेखपालों ने काम पर लौटने से इनकार कर दिया। इसके बाद 44 नए लेखपालों को सेवा समाप्ति का नोटिस जारी कर दिया गया, शेष 194 लेखपालों की सर्विस बुक पर सेवा ब्रेक की एंट्री की जा रही है। पूरे प्रदेश के लेखपाल अपनी मांगों को लेकर इन दिनों हड़ताल पर हैं।

संघ के अध्यक्ष, मंत्री भी सस्पेंड
बीकेटी तहसील में लेखपाल संघ के अध्यक्ष अनूप शुक्ला व महामंत्री विजय प्रताप सिंह को शासन की बात न मानने, काम बंद कर धरना देने के कारण बुधवार शाम सस्पेंड कर दिया। एसडीएम सूर्यकांत त्रिपाठी ने यह कार्रवाई की। एसडीएम ने बताया कि जो लेखपाल गुरुवार से काम पर नहीं लौटेगा उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

Advertisements
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.