Jan Sandesh Online hindi news website

PM मोदी का भविष्य इस व्यक्ति के हाथ में है, ऐसा दावा इस किताब ने किया है

नई दिल्ली। किंगशुक नाग द्वारा लिखी गई राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत की नई जीवनी में कहा गया है कि 2014 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सत्ता केवल और केवल आरएसएस की वजह से मिली और अगर भाजपा 2019 में भी जीत हासिल करती है तो वह भी आरएसएस की ही वजह से होगा.।

वे 8 पुस्तकें लिख चुके हैं, जिसमें दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जीवनी भी शामिल है. ‘मोहन भागवत: इंफ्लूएंसर इन चीफ’ नाम की किताब में दावे के साथ कहा गया है कि नरेंद्र मोदी का भविष्य मोहन भागवत के हाथों में है.।

modi-bhagwat-collage
और पढ़ें
1 of 2,932

लेखक किंगशुक नाग ने आरएसएस के वरिष्ठ सूत्रों के हवाले से लिखाा है कि आरएसएस का पुख्ता यकीन है कि भाजपा को सत्ता न तो मोदी की लोकप्रियता से मिली है और न ही कांग्रेसनीत संप्रग सरकार की गड़बड़ियों से. रूपा प्रकाशन से प्रकाशित पुस्तक में कहा गया है, बजाए इसके, यह पिछले वर्षो में आरएसएस के निरंतर किए कार्यो द्वारा बना सामाजिक बदलाव था, जिसने भाजपा के लिए माकूल माहौल तैयार किया. भागवत, मोदी को काबू में  रखने में विश्वास रखते हैं.।

bhagwat-modi2

लेखक किंगशुक नाग ने 240 पृष्ठों वालों किताब में लिखा है, हालांकि 2019 में चीजें अलग हो सकती हैं, 2014 चुनावों के लिए मोदी, भागवत की पहली पसंद नहीं थे. आरएसएस ने मोदी को बतौर भाजपा के प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में इसलिए पेश क्योंकि उसे एहसास हो गया था कि वह ही एकमात्र शख्स हैं जो पार्टी की जीत की ओर ले जा सकते हैं. 2014 चुनाव से पहले आरएसएस को संदेह था कि भाजपा स्पष्ट जीत हासिल करेगी लेकिन प्रदर्शन उसकी अपेक्षाओं से कहीं ज्यादा बेहतर निकला.।

नाग ने कहा कि मोदी के लिए यह करो या मरो की लड़ाई थी, भागवत के लिए भी कुछ ऐसा ही था लेकिन कारण अलग अलग थे. उन्होंने कहा, मोदी के लिए यह जीत उनके राजनीतिक करियर और आकांक्षा के लिए सर्वोच्च जीत थी लेकिन भागवत के लिए हिंदू राष्ट्र की रचना के लिए यह जरूरी (लेकिन पर्याप्त नहीं) था।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.