Jan Sandesh Online hindi news website

सुरक्षा में सेंध : HoneyTrap में फंसा यंग साइंटिस्ट, BrahMos-Missile की खुफिया जानकारी भेज रहा था देश के बाहर

नागपुर. भारतीय रक्षा प्रतिष्ठानों की सुरक्षा में एक बड़ी चूक सामने आई है.महाराष्ट्र के नागपुर में  उत्तर प्रदेश आतंक निरोधी दस्ते (एटीएस) एटीएस के हत्थे चढ़े रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के एक कर्मचारी निशांत अग्रवाल के बाद अब उसके दो अन्य साथी भी उत्तर प्रदेश एटीएस की रडार पर हैं. 2017-18 में यंग साइंटिस्ट अवॉर्ड से सम्मानित निशांत को उत्तर प्रदेश एटीएस कल निशांत को नागपुर कोर्ट में पेश करने के बाद रिमांड पर लेगी. उसको लेकर उत्तर प्रदेश एटीएस बुधवार तक लखनऊ आएगी.

उत्तराखंड के रुड़की निवासी निशांत अग्रवाल को पाकिस्तान को भारत की सबसे उन्नत मिसाइल के बारे में गुप्त जानकारी देने के मामले में आज गिरफ्तार किया गया है. रविवार से ही उसे ट्रैक किया जा रहा था. सोमवार को उसे गिरफ्तार करने में सफलता मिली. आईएसआई एजेंट के ब्रह्मोस मिसाइल यूनिट में काम करने की जानकारी मिलते ही एटीएस के हाथ-पांव फूल गए.

जिसके बाद उसे गिरफ्तार करने के लिए रणनीति बनाई गई. निशांत को नागपुर से यूपी एटीएस व मिलिट्री इंटेलिजेंस (दिल्ली) की टीम ने गिरफ्तार किया. उत्तर प्रदेश के आगरा में गिरफ्तार बीएसएफ के एक जवान के बाद अब निशांत अग्रवाल पाकिस्तान के हनीट्रैप में फंसकर देश की गोपनीय सूचना दे रहा था. फेसबुक पर पाकिस्तान की महिला मित्रों के जाल में फंसा डीआरडीओ का सिस्टम इंजीनियर निशांत अग्रवाल पर आरोप है कि वह ब्रह्मोस की जानकारी लीक कर रहा था. उसके फेसबुक अकाउंट पर भी पाकिस्तान की महिलाओं से उसकी दोस्ती के प्रमाण मिले हैं.

और पढ़ें
1 of 2,951

उत्तर प्रदेश एटीएस की निगाह अब आगरा तथा कानपुर में निशांत अग्रवाल के साथियों पर है. माना जा रहा है कि चंद दिनों में वह भी गिरफ्त में होंगे. निशांत के पास से कुछ संदिग्ध दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं. एटीएस टीम ने नागपुर स्थित निशांत के आवास पर छापेमारी की.

एटीएस की टीम  उसके पैतृक आवास उत्तराखंड के रुड़की भी जाएगी. जहां पर पाकिस्तानी महिलाओं के साथ उसके संबंध का और पुख्ता खुलासा होगा. निशांत अग्रवाल नागपुर में सेना की डीआरडीओ के ब्रह्मोस मिसाइल उत्पादन केंद्र के साथ पिछले चार साल से काम कर रहा था. उस पर आरोप है कि उसने इस मिसाइल से संबंधित कुछ गोपनीय जानकारियां पाकिस्तानी एजेंसियों को दी हैं.

गिरफ्तार इंजीनियर निशांत पर बेहद गंभीर आरोप है. बताया जा रहा है कि ब्रह्मोस मिसाइल यूनिट में काम करते हुए उसने ब्रह्मोस संबंधी तकनीकी और अन्य खुफिया जानकारियां पाकिस्तान और अमेरिका को पहुंचाई हैं. एटीएस फिलहाल इस शख्स से पूछताछ की जा रही है और इसके बारे में और जानकारियां जुटाने में जुटी हुई है. यह भी पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि इससे पहले उसने क्या-क्या सूचनाएं दुश्मन देश पाकिस्तान और अमेरिका तक पहुंचाई है.

निशांत पर पिछले काफी दिनों से एटीएस को शक था, लेकिन बात कुछ पुख्ता होने के बाद आज उसको गिरफ्तार कर लिया. उसे ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत पकड़ा गया है.

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.