Jan Sandesh Online hindi news website

दुदही की आपूर्ति व्यवस्था ध्वस्त, गरीबो के हक पर कोटेदारों का डाका

उपेन्द्र कुशवाहा
कुशीनगर। स्थानीय विकास खंड के सार्वजनिक वितरण प्रणाली दुरव्यवस्था की शिकार हो गयी हैं। पात्र गृहस्थी के कार्डधारको को  खाद्यान्न में घटतौली के साथ.मनमाना धन भी लिया जा रहांं हैं। मनमानी का ये आलम हैं कि विना पर्यवेक्षक के.मौजूदगी के खाद्यान्न वितरण कर खाना पूर्ति का आरोप आये दिन कार्ड धारको के द्वारा लगाये जा रहे हैं। मगर कोई सुनने वाला नहीं हैं। दुदही में करीब 139सस्ते गल्ले के दुकानदार सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत कार्डधारको को खाद्यान्न वितरण का कार्य करते.है। प्नेत्येक महीने में खाद्यान्न उठान के बाद हल्का लेखपाल के द्वारा. स्टाक सत्यापन उपरांत  7,8,9तारीख को खाद्यान्न वितरण करने का कार्य  कोटेदार के.द्वारा शूरू किया जाता हैं।
और पढ़ें
1 of 706
उसके बाद शेष बचे कार्ड धारको,15,16,17,तारीख को वितरण करना होता हैं।उसके बाद.फिर 27,28,29,तारीख को खाद्यान्न वितरण करने की जिम्मेदारी हैं।कार्डधारको का आरोप.हैं 7,8,9,तारीख के विरण के बाद खाद्यान्न का विरण दोबारा सस्ते गल्ले के दुकानदारो  के द्वारा नहीं कर दरवाजे से भगा दिया दाता हैं।आरोप यह भी कार्डधारको को खाद्यान्न देने में घटतौली के साथ  निर्धारित मूल्य से अधिक रकम लिया जाता हैं।जबकि प्रत्येक सस्ते गल्ले के दुकानदार के खाद्यान्न  वितरण  पर्यवेक्षक के उपस्थितथि में होगा मगर कहीं भी.ऐसा नहीं होता.हैं सस्ते गल्ले के दुकानदारों के यहां वितरण के दूसरे.तिथि  के बाद अधिकतर कार्डधारको के द्वारा यह.कह कर बदसलूकी की जाती हैं कि, हमरा के तानख्वाह थोड़े.मिलेला।, कोटेदारों के मनमानी व आपूर्ति अधिकारी दुदही केमिली भगत से कार्डधारको को शोषण दिन प्रतिदिन दो गुना हो रहांहैं।इस सम्बंध में जिला पूर्ति अधिकारी विमल कुमार शुक्ल का कहना.है कि ऐसा मामला संज्ञान मेंनहीं था अभीआयाहैंजल्दहीअभियानचलाकर जांच कर कारवाई की जायेगी।
 तेल डीपो से मिट्टी के तेल उठान के समय कोटेदारों से होती हैं वसूली
-सस्ते गल्ले के दुकानदारों का आरोप हैं। तेल उठान के लिए दुदही विकास खंड के ग्राम पंचायत रकबा दुलमापटटी सहित तीन तेल डीपो से प्रत्येक सस्ते गल्ले के दुकानदार से प्रमाण पत्र के नाम पर चार सौ रु,प्रति ड्रम 170रू  वसूल किया जाता हैं। प्रत्येक ड्रम में 10से 15लीटर मिट्टी तेल कम मिलता हैं। इस संम्बंध जिला पूर्ति अधिकारी विमल कुमार शुक्ल का कहना हैं कि यह मामला संज्ञान में लाया गया हैं, जांच कर कार्रवाई की जायेगी।
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.