Jan Sandesh Online hindi news website

कौशांबी : अधिकारी तथा कर्मचारी कर रहे मनमानी ,नही खुल रहे आगनबाड़ी केन्द्र

नवजात बच्चो के साथ हो रहा खेलवाड कागजो मे ही बट रहा पोषाहार हर वर्ष कुपोषण का शिकार हो रहे बच्चे सरकार के प्रयासो मे फिर रहा पानी

इस भ्रष्टाचार मे अधिकारी भी है सहभागी

और पढ़ें
1 of 117

आगनबाड़ी कार्यकृत्रियो द्वारा आगनबाड़ी केन्द्रो को मनमानी तरीके से चलाया जा रहा है। केन्द्र तभी खुलते है जब किसी जांच अधिकारी या कैम्प लगाया जाता है।बाकी दिनो मे केन्द्र पर ताला लटकता रहता है। उनका कोई  सिस्टम नही है न खुलने का न बन्द होने का। आगनबाड़ी कार्यकृत्रियो द्वारा बच्चो के पोषाहार का दुरुपयोग किया जा रहा है बच्चो का पोषाहार पूर्णतया बच्चो तक नही पहुंचता उसे बीच मे ही खत्म कर दिया जाता है जिससे बच्चे तथा गर्भवती महिलाये कुपोषित रह जाते है।

जिससे जच्चा बच्चा दोनो के जीवन पर खतरा बना रहता है और कुछ कुपोषण का शिकार हो जाते है जिस पर उनका जीवन खत्म हो जाता है जिसकी रिपोर्ट साशन तक नही पहुंचाया जाता है। जिससे साशन को सही आंकडा नही मिलता कि कितने बच्चे तथा महिलाये कुपोषण का शिकार हो रहे है तथा माताओ की मृत्यु दर कितनी बढी क्यो मामला गम्भीर होने पर उन्हे बाहर के लिए रिफर कर दिया जाता है।और वहा जाकर उनकी मृत्यु हो जाती है या आप्रेशन से बच्चे को निकाला जाता है जिससे माताओ का जीवन स्तर घटता जा रहा है।इसके लिए छोटे से लेकर बडे अधिकारी तक जिम्मेदरी

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.