Jan Sandesh Online hindi news website

कौशाम्बी: दुर्गा पंडाल में हिन्दू-मुस्लिम एकता की मिशाल बनी रेशमा

विकास कुमार गौतम
यूपी के कौशाम्बी जिले में एक मुस्लिम बेटी ने गंगा-जमुनी तहजीब की अनूठी मिशाल पेश की है । शारदीय नवरात्र पर्व पर माँ दुर्गा के प्रति आस्था रखने वाली यह मुस्लिम बेटी दुर्गा पंडाल में पूरे नौ दिनो तक साफ सफाई कर माँ दुर्गा की विधिवत पूजा आराधना करती है । इतना ही नही हर रोज रात्रि में कन्याओं को भोज कराने के बाद आयोजित भंडारे में माता के भक्तों को पूरे श्रद्धा के साथ प्रसाद भी वितरित करती है । माँ दुर्गा के प्रति इस मुस्लिम बेटी की आस्था व सेवा-भाव देखने के बाद लोग इसकी प्रसंसा करने में भी पीछे नही रहते है ।
कौशाम्बी: दुर्गा पंडाल में हिन्दू-मुस्लिम एकता की मिशाल बनी रेशमा
और पढ़ें
1 of 117
कौशाम्बी के म्योहरा गांव में स्थापित माँ दुर्गा के पंडाल में माँ के भक्तों को प्रसाद परोस रही यह रेशमा धर्म से मुस्लिम जरूर है , लेकिन माँ दुर्गा के प्रति इसकी यह आस्था हिन्दू-मुस्लिम एकता की एक अनूठी मिशाल है । माँ भगवती के लिए पूरी शिद्दत से आस्था रखने वाली यह रेशमा धर्म के उन ठेकेदारों के मुंह पर करारा तमाचा है , जो मजहब के नाम पर लोगो को बांटते फिरते है । शारदीय नवरात्रि में पूरे नौ दिनों तक रेशमा दुर्गा पंडाल में साफ-सफाई से लेकर पूजा अर्चना तक करती है ।
माता रानी के प्रति इतनी बड़ी आस्था व सेवा-भाव से वह खुद को भी धन्य मानती है । तन मन धन से माँ के प्रति भक्ति की अलख जगाने वाली इस मुस्लिम बेटी ने गंगा-जमुनी तहजीब की भी एक अनूठी मिशाल पेश की है । आयोजक पंकज केसरवानी के मुताबिक पिछले पांच सालो से यह मुस्लिम बेटी हर नवरात्रि में मूर्ति स्थापित से लेकर विसर्जन तक भाग लेती है ।
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.