Jan Sandesh Online hindi news website

वर्जिनिटी टेस्ट : शादी के समय महिला ने वर्जिनिटी टेस्ट करने का किया था विरोध, नहीं खेलने दिया गरबा

महाराष्ट्र में 'स्टॉप द वी रिचुअल' (Stop the V-ritual) अभियान तेज

पुणे के भाटनगर इलाके में एक 23 साल की लड़की को गरबा खेलने से मना करने का मामला सामने आया है. उसे ऐसा करने से इसलिए मना किया गया क्योंकि उसने शादी के समय वर्जिनिटी टेस्ट करने पर आपत्ति दर्ज कराई थी और इसका विरोध किया था.इसी मामले को लेकर ऐश्वर्या को समाज ने बहिष्कृत कर दिया.

लड़की का नाम ऐश्वर्या तमायचीकर है और वह पुणे में कानून की पढ़ाई कर रही है. शादी के समय वर्जिनिटी टेस्ट का विरोध करने पर कंजारभाट समाज ने ऐश्वर्या का बहिष्कार कर दिया था. लड़की की शिकायत पर इस समाज के 8 सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.

और पढ़ें
1 of 3,001

बता दें, वर्जिनिटी टेस्ट का विरोध करने पर कंजारभाट समाज ने ऐश्वर्या का बहिष्कार कर दिया था. लड़की ने इस मामले की शिकायत की थी जिसके चलते समाज के 8 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज है. बताया गया है कंजारभाट समाज के शिक्षित लोगों ने लड़की के समर्थन में उसका साथ दिया और इस टेस्ट का विरोध भी किया. विरोध करने पर लड़की को समाज के सभी कार्यक्रम से बहिष्कार कर दिया. इसी पर ऐश्वर्या ने कहा कि ‘उसने 12 मई 2018 को विवेक तमायचीकर के साथ शादी की थी लेकिन उसने वर्जिनिटी टेस्ट का विरोध किया जिसके कारण समाज के किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं होने दिया जाता है जिससे वो पूरी तरह से समज से बाहर है.’

महाराष्ट्र में देखा जा रहा है ‘स्टॉप द वी रिचुअल’ (Stop the V-ritual) अभियान तेजी से उभरकर सामने आ रहा है, जिस तरह मीटू कैंपेन जोरों पर है उसी तरह ये अभियान भी तेज़ी पर है. इसी के चलते विर्जिनिटी टेस्ट का विरोध किया जा रहा है. वहीं सोमवार को महिला ने डांडिया में शामिल होना चाहा तो उसे उत्सव से बाहर कर दिया गया.

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.