Jan Sandesh Online hindi news website

BJP नेताओं की नींद उड़ा दी इस सर्वे ने

कुछ ही महीनों में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं, ऐसे में सभी पार्टियां अभी से इसकी तैयारियों में जुट गई है.। इसी सिलसिले में बीजेपी ने महाराष्ट्र में अपनी ताकत जांचने के लिए महाराष्ट्र का चुनाव सर्वे करवाया, लेकिन सर्वे के नतीजे ने बीजेपी नेताओं की नींद उड़ा दी है. पहले शिवसेना का अलग होना और अब सर्वे के नतीजे अपने पक्ष में नहीं आने से बीजेपी का टेंशन में आना लाजमी ही है.।

दरअसल, पार्टी ने महाराष्ट्र में एक आंतरिक सर्वे करवाया जिसेमें 8 सांसदों और 40 विधायकों का दोबारा जीतना मुश्किल लग रहा है और इसी बात ने बीजेपी की नींद उड़ा दी है. भाजपा ने सांसदों और विधायकों को लेकर एक आंतरिक सर्वे कराया था. इस महाराष्ट्र का चुनाव सर्वे जिसके तहत उनके कामकाज का विश्लेषण किया गया।

MAHARASHTRA-BJP
और पढ़ें
1 of 196

सर्वे में लोगों से उनके जनप्रतिनिधियों के कामकाज के बारे में राय मांग गई, साथ ही यह पूछा गया कि क्या आप अपने मौजूदा सांसद या विधायक को दोबारा मौका देना चाहेंगे।इस सर्वे में सोलापुर के सांसद शरद बंसोडे, धुले के सांसद सुभाष भामरे और रक्षा खडसे के काम के तरीके को लेकर लोग नाराज हैं. ं।

इतना ही नहीं बीजेपी की मुश्किलें इसलिए और बढ़ गई है क्योंकि राज्य में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने हाथ मिला लिया है. महाराष्ट्र का चुनाव सर्वे रिपोर्ट और पार्टी का आतंरिक विश्लेषण तो यही इशारा कर रहा है कि कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस के गठबंधन से महाराष्ट्र में भाजपा की जीत की राह आसान नहीं होगी।

उधर पार्टी प्रदेश अध्यक्ष का कहना है कि ऐसे सर्वे का चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है, पार्टी बस यू हीं इस तरह के सर्व कराती रहती ताकि कामकाज में गलतियों और कमियों को सुधारा जा सके. उन्होंने इस बात से भी इनकार किया कि उनके जनप्रतिनिधियों के काम से जनता खुश नहीं है।

महाराष्ट्र का चुनाव सर्वे   खैर किसके दावे कितने सच्चे है और कितने झूठे ये तो आने वाले चुनावी नतीजों के बाद साफ हो ही जाएगा, लेकिन एक बात तो तय है कि पिछले चुनाव में पूर्ण बहुत हासिल करने वाली बीजेपी के लिए इस बार का चुनाव आसान नहीं होगा.

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.