Jan Sandesh Online hindi news website

शर्मसार खाकी: छेड़खानी के आरोप में दारोगा का भीड़ ने एएसआइ का किया ये हाल

पटना । समस्तीपुर के विक्रमपुर वांदे में नवरात्रि के दौरान सुरक्षा व्यवस्था में लगाए गए एक सहायक दारोगा मुफस्सिल थाना में पदस्थापित सहायक अवर निरीक्षक (एएसआइ) आरएस विद्यार्थी की करतूत से पुलिस महकमा फिर शर्मसार है। ग्रामीणों ने उसे एक घर मे घुसकर महिला के साथ जबरदस्ती करते रंग हाथ पकड़ा। फिर तो वही हुआ, जो आप सोच रहे हैं।

पुलिसकर्मी की बदनीयती से आक्रोशित ग्रामीणों ने एएसआइ के कपड़े फाड़ डाले तथा उसे जमकर धुना। यह तो गनीमत थी कि अन्य पुलिस वाले उसे भीड़ से बचाकर ले गए। नहीं तो बड़े हादसे की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता था। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद एसपी हरप्रीत कौर ने आरोपित पुलिसकर्मी को निलंबित कर दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

राजधानी में कोतवाली थाना के पास भी बुधवार की रात हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ। थाना से महज 50 मीटर दूर इंटर काउंसिल ऑफिस के पास पुलिस जवानों और मेला घूमने आए लोगों के बीच जमकर भिड़ंत हो गई। बीच सड़क पर दोनों ओर से खूब लात-घूंसे चले। घटना को लेकर लोगों का आरोप है कि पीटे गए पुलिसकर्मी निर्दोष बाप-बेटे को पीट रहे थे। इसके पहले उन्घ्होंने वर्दी की धौंस दिखाते हुए लड़कियों से बदसलूकी भी की थी।

और पढ़ें
1 of 196

अधिकारियों के हस्तक्षेप से भीड़ तितर-बितर हुई। थानाध्यक्ष राम शंकर सिंह ने बताया कि पुलिस के साथ बदसलूकी के आरोप में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। सूत्र बताते हैं कि पुलिस से बदसलूकी के आरोप में एक बैंक के अधिकारी और उसके बेटे को हिरासत में लिया है। उनका कोई आपराधिक इतिहास नहीं है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, बुधवार की रात लगभग 12.30 बजे इंटर काउंसिल भवन से सटे मौर्यालोक कांप्लेक्स के प्रवेश द्वार पर थोड़ा अंधेरा था। वहां बाइक खड़ी कर बाप-बेटे बात कर रहे थे। इसी बीच क्विक मोबाइल के दो जवान आए और बाइक खड़ी कर बेटे के साथ खड़े अधेड़ की शर्ट का कॉलर पकड़ लिया।

एकाएक कॉलर पकडने पर उन्होंने असहज महसूस किया और सिपाही का हाथ झटक दिया। यह बात उस जवान को नागवार गुजरी। दोनों जवान मिलकर बाप-बेटे को पीटने लगे। सरेराह दो लोगों को पीटे जाते देखकर भीड़ जमा हो गई और लोग पुलिस पर टूट पड़े।

पुलिसकर्मियों को पीटते लोगों में कुछ का आरोप था कि ये जवान ही मौर्यालोक परिसर में घूमकर फूड स्टॉल पर खड़े लड़कों को गाली दे रहे थे तथा उन्होंने ही मौर्या टावर के पास मोबाइल पर बात कर रहीं लड़कियों के साथ छींटाकशी भी की थी। उनकी वर्दी पर नेम प्लेट भी नहीं था।
घटना ने पुलिस के दामने पर एक और दाग लगा दिया है। उधर, आरोप के घेरे में आए मातहतों को बचाने के लिए आला अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.