Jan Sandesh Online hindi news website

जंग के 56 साल बाद एक गांव अब करोड़पति हो गया है !!

भारत और चीन के बीच 1962 की जंग के 56 साल बाद अरुणाचल प्रदेश का एक गांव अब करोड़पति हो गया है. जंग के दौरान भारतीय सेना ने गांव वालों की जमीन छीनकर उस पर बैरक, बंकर और बेस बनाए थे. इस पहाड़ी गांव को अब जमीन का 38 करोड़ रुपए का मुआवजा मिला है.

और पढ़ें
1 of 459

केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू के अनुसार यह मुआवजा उन लोगों को दिया गया है, जिनकी जमीन उस वक्त ली गई थी. रिजिजू और राज्य के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने लाभार्थियों को चेक प्रदान किए. जिन लोगों को मुआवजे का हिस्सा मिला है, उनमें प्रेम दोरजी ख्रीमे हैं जिन्हें 6.31 करोड़ रुपए का चेक मिला है. वहीं फुंटसो खावा को 6.21 करोड़ रुपए मिले हैं.

भारतीय सेना ने जिन गांव वालों से जमीन छीनी थी, उसका मुआवजा नहीं दिया गया था. जमीन के मालिकों को पिछले साल तक कोई मुआवजा नहीं मिला था. रिजिजू ने कहा कि लोगों की जमीन देश के लिए ली गई थी, लेकिन जमीन के मालिकों को मुआवजा देना जरूरी नहीं समझा गया. पिछले साल अप्रैल तक पश्चिमी कमेंग जिले में 54 करोड़ का मुआवजा 152 परिवारों में बांटा गया था. वहीं फरवरी 2018 में तवांग जिले में 31 परिवारों को 40.80 करोड़ का मुआवजा दिया गया था.

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.