Jan Sandesh Online hindi news website

दिल्ली में हुई ‘मौत की रेस’ , बस ने ली कई लोगों की जान

नई दिल्ली l आनंद विहार आईएसबीटी से सीमापुरी बॉर्डर रूट पर बस ड्राइवर रेस लगाते हैं। हर रोज डीटीसी, क्लस्टर और प्राइवेट बसें बेखौफ दौड़ती हुई मिल जाएंगी। तेज रफ्तार से बस चलाने का ही नतीजा था कि डीटीसी के बाइक सवार दो कर्मचारियों की मौत हो गई। इस घटना में एक तेज रफ्तार चार्टर्ड बस ने रामप्रस्थ फुट ओवरब्रिज के पास रेड लाइट पर खड़ी चार बसों को टक्कर मार दी थी। इससे बाइक सवार सतीश और रूपेंद्र दो बसों के बीच में फंस गए और उनकी मौत हो गई थी। इस हादसे में तीन लोग घायल भी हुए थे।

दो लोगों की जान जाने के बाद भी बसों के ड्राइवरों का रेस लगाना जारी है। बसें जब रामप्रस्थ के आगे फ्लाइओवर पर चढ़ते हुए आनंद विहार आईएसबीटी की ओर आती हैं और इसी रूट से सीमापुरी की ओर जाती हैं, तो इनकी तेज रफ्तार के आगे कोई टिक नहीं पाता।

और पढ़ें
1 of 2,940

आनंद विहार आईएसबीटी से रूट नंबर-33, 212, 165, 85, 73, 624, 623ए, 473, 469, 740, 534 और 543 समेत गुड़गांव जाने वाली तमाम रूटों पर चलने वाली डीटीसी और क्लस्टर बसें कभी भी यहां सर्विस रोड पर बने बस स्टैंड पर नहीं जातीं। इन बसों को चलाने वाले ड्राइवर बसों को सवारियां चढ़ाने और उतारने के लिए ज्यादातर वक्त रोड के बीचोंबीच रोकते हैं। इससे आए दिन हादसे होते हैं।

महीने के कुछ ही दिन ऐसे होते हैं, जब यहां ट्रैफिक पुलिस इनकी स्पीड पर लगाम लगाने के लिए खड़ी होती है। उस समय यह एक ही लाइन में सीधे चलते हैं। लगभग हर रोज पैसेंजर्स जान हथेली पर रखकर बसों में चढ़ते-उतरते हैं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.