Jan Sandesh Online hindi news website

आजम खां : मैं BJP का राजनीतिक ‘आइटम गर्ल’

बदायूं । समाजवादी पार्टी  के राष्ट्रीय महासचिव आजम खां अपने बयानों के लिए अक्सर सुर्खियों में रहते हैं।   आजम खां बुधवार को कहा कि वह बीजेपी के राजनीतिक ‘आइटम गर्ल’ हैं। उन्होंने कहा कि इस पार्टी ने उनके नाम पर उत्तर प्रदेश का पिछला विधानसभा चुनाव लड़ा था और अब उनके नाम पर ही आगामी लोकसभा चुनाव भी लड़ेगी। बीजेपी ने खां के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि उन्होंने जो अभद्र शब्द इस्तेमाल किया है, वह उनकी सोच को दर्शाता है। इसी बीच आजम खां पर डॉ बीआर आंबेडकर के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है।
मशवराती काउंसिल की विशेष बैठक में शामिल होने बदायूं आए खां ने मीडिया से बातचीत में खुद को बीजेपी का ‘आइटम गर्ल’ बताया। उन्होंने कहा, ‘सारे चुनाव बीजेपी मेरे नाम पर ही लड़ती रही है। पिछला विधानसभा चुनाव मेरे नाम पर लड़ा। अब लोकसभा चुनाव भी मेरे ही नाम पर लड़ेगी।’ एसपी नेता ने कहा, श्मेरा तो यह हाल कर दिया है कि मुझे खुद नहीं पता कि मेरे ऊपर कितने मुकदमे दर्ज कर दिए गए हैं। मेरे नाम से कितने समन और वॉरंट जारी कर दिए गए हैं, मैं तो बस उन्हीं मुकदमों की पैरवी करता घूमता रहता हूं।’
और पढ़ें
1 of 2,086
आजम खां ने दावा किया कि उनके पास कोई संपत्ति नहीं है। उनका सिर्फ एक बैंक खाता है जो विधान भवन में स्थित एसबीआई की शाखा में है। इसके सिवाय अगर देश के किसी भी बैंक में उनका कोई खाता मिल जाए तो उनको कुतुबमीनार पर फांसी दे दी जाए। खां ने बताया कि मशवराती काउंसिल ने निर्णय लिया है कि फिरकापरस्त ताकतों को हराने के लिए दलितों, पिछड़ों और कमजोरों को एकजुट करना होगा, तभी इंकलाब आएगा। इसके लिए उन सभी मुद्दों से हटना होगा जिनको लेकर बीजेपी देश मे आग लगाना चाहती है।
राम मंदिर मामले पर खां ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट देश की सर्वोच्च संस्था है। उसका आदेश सबसे ऊपर होना चाहिए। उन्होंने बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए कहा, श्जब छह दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद तोड़ी गई तब किसी मुस्लिम संगठन ने कोई विरोध नहीं किया। आप मंन्दिर बनाइए। विरोध की चिंता छोड़िए। आपको जो करना है कीजिए मगर देश को गुमराह मत कीजिए।
वहीं, आजम खां के बयान पर पलटवार करते हुए प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता चंद्रमोहन ने कहा कि खां विक्षिप्त हो गए हैं। वह वोट बैंक, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण की जो राजनीति करते थे, उसके दिन जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि खां ने जो अभद्र शब्द इस्तेमाल किया है, वह उनकी सोच को दर्शाता है। यही सोच एसपी की भी है और ऐसे लोगों की है जो एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव से जुड़े हुए हैं।
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.