Advertisements

CID ऑफिसर ने दाढ़ी काट ली, पूरा हुलिया बदल लिया,फिर भी नहीं बची जान

नई दिल्ली। शहीद सीआईडी ऑफिसर इम्तियाज अहमद मीर अपने माता-पिता से मिलने को इस कदर बेताब थे कि उन्होंने अपनी दाढ़ी काट ली और अपना पूरा हुलिया बदल लिया था ताकि आतंकवादियों से बचते-बचाते वह अपने माता-पिता से मिलने जा सकें, लेकिन किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और आतंकवादियों ने उन्हें पहचान कर उनकी जान ले ली. शहीद मीर के एक सहकर्मी ने यह जानकारी दी।

घटनाक्रम से जुड़े एक अधिकारी के अनुसार मीर को उनके गांव में न जाने की चेतावनी दी गई थी, क्योंकि डर था कि आतंकवादी उन पर हमला कर सकते हैं, लेकिन वह अपने माता-पिता को देखने के लिए बेकरार थे जो पुलवामा जिले के अंदरूनी इलाके में सोनता बाग में रहते हैं. अधिकारी ने बताया कि आज सुबह उन्होंने घर जाने के लिए छुट्टी ली और अपना हुलिया बदल लिया और अपने पैतृक गांव जाने के लिए अपने व्यक्तिगत वाहन का इस्तेमाल करने का निर्णय लिया. घर के लिए रवाना होने से पहले संभवतरू उन्होंने अपने अधिकारी से आखिरी बार कहा था, अब वे (आतंकी) मुझे नहीं पहचान पाएंगे।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार पुलवामा जिले में रविवार दोपहर इम्तियाज अहमद मीर निजी कार में यात्रा कर रहे थे. इस दौरान बंदूकधारी आतंकियों ने उनका अपहरण कर लिया और पास के रुमशी नल्ला में ले गए, जहां पर बाद में गोली मारकर हत्या कर दी गई. घटना की जानकारी के बाद तत्काल पुलवामा के स्थानीय पुलिस अधिकारियों समेत बड़ी संख्या में सेना और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस के जवान मौके पर पहुंचे, जिसके बाद आसपास के इलाकों में हमलावरों की तलाश के लिए सर्च ऑप्रेशन शुरू किया गया।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।