Advertisements

संतों की चेतावनी : भगवान श्री राम का मंदिर नहीं बना तो भगवान करेंगे सरकार को दंडित

नई दिल्ली । दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित धमार्देश कार्यक्रम में देशभर से साधु-संत ने सरकार को साफ-साफ कह दिया है कि संसदीय आम चुनाव से पहले भगवान श्री राम का मंदिर नहीं बना तो भगवान सरकार को दंडित करेंगे। रविवार को दो दिवसीय धर्मादेश कार्यक्रम संपन्न हो गया। इस मौके पर आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर ने भी कार्यक्रम में शिरकत की। राम मंदिर पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि हम हमेशा से मंदिर निर्माण के पक्षधर हैं।

कार्यक्रम में पहुंचे स्वामी रामभद्राचार्य ने कहा कि राम मंदिर या तो अध्यादेश के जरिए बन सकता है या फिर सौहार्दपूर्ण माहौल से बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अब हालात काबू से बाहर हो रहे हैं और हमारा सब्र टूट रहा है। स्वामी रामभद्राचार्य ने कहा कि हम अयोध्या में राम मंदिर चाहते हैं। जब सुप्रीम कोर्ट एक आतंकी के लिए आधी रात को खुल सकता है तो फिर धार्मिक आस्था का मामला क्यों टाला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कोर्ट का सम्मान है लेकिन राम मंदिर हमारा अधिकार है। स्वामी ने कहा कि अगर सरकार 2019 चुनाव से पहले राम मंदिर बनवाने में नाकाम रहती है तो भगवान उन्हें सजा देंगे। उन्होंने कहा कि कोई इसे लेकर गंभीर हो या नहीं लेकिन संत समाज मंदिर को लेकर गंभीर है।

इस कार्यक्रम के दौरान अखिल भारतीय संघ समिति के स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती ने कहा कि इस समागम में कई अहम फैसले लिए गए हैं। उन्होंने कहा कि देश में कोई भी आदर्श व्यक्तियों की प्रतिमा के बनाने के खिलाफ नहीं जाएगा, चाहे वो सरदार पटेल की हो या फिर भगवान राम की। उन्होंने कहा कि सिर्फ  विनाशकारी ताकतें ही इसके खिलाफ हो सकती हैं। बता दें कि दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम देश भर से 3 हजार संत जुटे थे। संतों के इस जमावड़े को धमार्देश संत महासम्मेलन नाम दिया गया है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।