Advertisements

भव्य दीपोत्सव: अयोध्या ने बनाया नया वर्ल्ड रेकॉर्ड, 5 मिनट तक एक साथ जले 3,01,152 दीये

अयोध्या । पौराणिक नगरी अयोध्या में भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम के बीच  विश्व कीर्तिमान कायम किया है। जब सरयू के किनारे तीन लाख से ज्यादा दीये जले तो सरयू तट समेत पूरा शहर जगमगा उठा। इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने जहां अयोध्या को कई सौगातें दीं वहीं 3 लाख से अधिक दीये जलाकर यहां एक नया वर्ल्ड रेकॉर्ड भी कायम किया गया। सरयू नदी के तट पर 3, 01,152 दीये जले तो गिनेस बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड में अयोध्या का नाम दर्ज हो गया।

दीपोत्सव कार्यक्रम के तहत अयोध्या में 3 लाख से अधिक दीये जलाकर वर्ल्ड रेकॉर्ड बनाने की तैयारी पहले ही शुरू हो गई थी। मंगलवार शाम भव्य कार्यक्रम के दौरान जब सरयू तट पर लाखों की संख्या में दीये जले तो वहां का दृश्य देखते ही बन रहा था। गिनेस वर्ल्ड रेकॉर्ड के आधिकारिक निर्णायक रिषि नाथ ने सरयू के घाट पर दीपोत्सव के दौरान रेकॉर्ड बनाए जाने की घोषणा की।

सीएम योगी आदित्यनाथ और दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम-जुंग सुक की मौजूदगी में रिषि नाथ ने कहा, श्पांच मिनट तक एक साथ कुल 3,01,152 दीये जले। यह नया रेकॉर्ड है। राम की पैड़ी के दोनों तरफ घाट पर कुल 3.35 लाख दीये जलाने का लक्ष्य तय किया गया था। नए रेकॉर्ड को अद्भुत बताते हुए रिषि नाथ ने कहा, इसने हरियाणा में 2016 में बनाए गए रेकॉर्ड को तोड़ दिया। वहां पर 1,50,009 दीये जलाए गए थे।

फैजाबाद का नाम अब अयोध्या
दीये की रोशनी से जगमग अयोध्या में जहां दीपोत्सव पर एक नया वर्ल्ड रेकॉर्ड बना, वहीं सीएम ने भी कई सौगातें देकर इस मौके को यहां के लोगों के लिए और खास बना दिया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या करने का ऐलान किया। इसके अलावा शहर में बन रहे एयरपोर्ट को भी भगवान राम के नाम पर रखने का ऐलान किया।

सीएम योगी ने भगवान राम के पिता दशरथ के नाम पर मेडिकल कॉलेज के निर्माण का भी ऐलान किया। इस दौरान योगी ने यह भी दावा किया कि उनकी सरकार अयोध्या के विकास के लिए प्रतिबद्ध है और वह इस तरह के आयोजन यहां करते रहेंगे।

इससे पहले दीपोत्सव कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए योगी ने कहा, श्प्रभु श्रीराम ने लंका पर विजय प्राप्त करने के बावजूद रावण के भाई को सत्ता सौंपी। यह हमारी सांस्कृतिक पहचान है। भारत ने सबको अपने गले से लगाया। यही वजह है कि जो भी यहां आया वह भारत का होकर रह गया।श् इससे पहले गवर्नर राम नाईक और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरिया गणराज्य की प्रथम महिला के साथ श्रीराम, सीता और लक्ष्मण के प्रतीकों की अगवानी की। इस दौरान डेप्युटी सीएम दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य भी मौजूद रहे।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।