Jan Sandesh Online hindi news website

Notebandee के हीरो शक्तिकांत दास बने आरबीआई ने नए गर्वनर, तीन साल का होगा कार्यकाल

नई दिल्ली । भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के नए गवर्नर शक्तिकांत दास के नियुक्त किया गया। शक्तिकांत दास पूर्व वित्त सचिव रह चुके हैं और वर्तमान में वित्त आयोग के सदस्य हैं। आपको बता दें कि सोमवार को उर्जित पटेल ने आरबीआई गवर्नर पद से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद सरकार की टेंशन बढ़ गई। इससे पहले आर्थिक मामलों के सचिव का कहना है कि आज ही गवर्नर के नाम पर फैसला हो जाएगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिलहाल गवर्नर की रेस में शक्तिकांत दास के नाम की चर्चा तेज हो गई है।

पूर्व वित्तीय सचिव और वित्तीय आयोग के मौजूदा सदस्य शक्तिकांत दास को सरकार ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) का नया गवर्नर नियुक्त किया है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने यह खबर दी है। दास का कार्यकाल तीन साल के लिए होगा।

और पढ़ें
1 of 582

शक्तिकांत दास इस समय वित्त आयोग के सदस्य हैं। 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी के ऐलान के समय दास वित्त सचिव थे। उन्होंने नोटबंदी की पूरी प्रक्रिया में अहम भूमिका निभाई थी। सोमवार को रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद से ही शक्तिकांत दास को नए गवर्नर की रेस में सबसे आगे माना जा रहा था। बताया जाता है कि उनकी इस पद पर नियुक्ति से पहले मंगलवार शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली के बीच मुलाकात हुई थी।

शक्तिकांत दास का जन्म 26 फरवरी 1957 को हुआ था। उन्होंने इतिहास में एमए किया है और तमिलनाडु कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। वो फिलहाल भारत के 15 वें वित्त आयोग और भारत के शेरपा जी -20 में सदस्य हैं। शक्तिकांत ने भारत के राजस्व सचिव, भारत के आर्थिक मामलों के सचिव और भारत के उर्वरक सचिव के रूप में अपनी सेवाएं दी हैं। उन्होंने नई दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से मास्टर्स डिग्री ली है।

गौरतलब है कि सोमवार को उर्जित पटेल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। पटेल ने इसके पीछे निजी कारणों का हवाला दिया था। उर्जित पटेल सितंबर 2016 में आरबीआई के 24वें गवर्नर नियुक्त किए गए थे। उन्हें रघुराम राज का कार्यकाल खत्म होने के बाद तीन साल के लिए नियुक्त किया गया था।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.