fbpx
Advertisements
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

यह महिला blogger कई सालों से बिना कपड़ों के घूम रही है, यह है वजह !

27 साल की चेल्सिया कोविंगटन लैंगिक समानता चाहती हैं। उनको इस बात से आपत्ति है कि पुरुष जहां बिना सीना ढके बेरोक सार्वजनिक जगहों पर जा सकते हैं और ऐसी तस्वीरें इंस्टाग्राम जैसी साइट्स पर लगा सकते हैं, वहीं महिलाओं को ऐसा करने की इजाजत नहीं है। इसका विरोध करते हुए वह पिछले 3 साल से टॉपलेस होकर पब्लिक जगहों पर जाती हैं।

स्तन महिला के शरीर का कुदरती हिस्सा है। शरीर के बाकी अंगों की तरह यह भी शरीर का एक सामान्य हिस्सा होता है, लेकिन फिर भी कई बार इसके कारण अच्छा-खासा विवाद खड़ा हो जाता है। अब #Freethenipple अभियान को ही ले लीजिए। इसे लेकर अभी भी लोगों की पेशानी पर बल पड़ जाता है। समाज जिस तरह से महिला के स्तनों को लेकर सोचता है, उसमें स्तनों को सेक्स के साथ जोड़कर इसकी एक खास छवि और जरूरत बना दी गई है।

इसी का नतीजा है कि स्तनों को लेकर इतनी कुंठा है और उन्हें दिखाना अश्लील माना जाता है। यह मुद्दा उस समय अंतरराष्ट्रीय निशाने पर आया जब अपने बच्चे को दूध पिलाने की सामान्य तस्वीरें इंस्टाग्राम पर डालने वाली कई महिलाओं की ऐसी तस्वीरें यो तो हटा दी गईं या फिर उनके अकाउंट को ही सस्पेंड कर दिया गया। यह नियम पुरुषों पर लागू नहीं है। वे बिना कमीज या बिना बनियान के, खुले सीने की अपनी तस्वीरें खुलेआम बेपरवाह होकर लगा सकते हैं। यह असमानता कमोबेश हर जगह ही है।

अमेरिका के कई प्रांतों और दुनिया में अधिकांस जगहों पर महिलाओं का सार्वजनिक तौर पर खुले स्तन में दिखना अपराध माना जाता है। इंग्लैंड और वेल्स में सार्वजनिक तौर पर नंगा होना गारकानूनी नहीं है। 2014 में विलीस नाम की एक महिला इंस्टाग्राम की सेंसरशिप पॉलिसी के विरोध में टॉपलेस होकर पूरे न्यूयॉर्क शहर में घूमी थीं। कई और महिलाएं भी खुले स्तन के साथ सार्वजनिक स्थान पर जाने को लेकर लड़ रही हैं।

27 साल की चेल्सिया कोविंगटन पिछले 3 साल से सार्वजनिक तौर पर बिना स्तन ढके लोगों के सामने आ रही हैं। उनका कहना है कि पुरुष बिना सीना ढके बेबाक सार्वजनिक तौर पर घूमते हैं। इसी तरह महिलाओं को भी अपनी मर्जी से बिना स्तन ढके चलने-घूमने की आजादी होनी चाहिए। वॉशिंगटन, न्यूयॉर्क में, ऐसी जगहें जहां महिलाओं के बिना स्तन ढके पब्लिक जगहों पर जाने में कोई पाबंदी नहीं है, कोविंटन पिछले 3 साल से बिना स्तन ढके ही जाती हैं। वह अपने अनुभवों को अपने ब्लॉग पेज पर साझा भी करती हैं। महिला अधिकारों और लैंगिग समानता के लिए यह उनकी कोशिश का हिस्सा है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।