fbpx
Advertisements
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

अखिलेश और मायावती ने मिलकर निकाला लोकसभा चुनाव जीतने का यह नया फॉर्मूला!

लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर प्रदेश की 80 सीटों के समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी एक साथ आ गए हैं. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती ने मिल कर उत्तर प्रदेश की लोकसभा की 80 सीटों के लिए गठबंधन का फैसला किया है. बताया जा रहा है कि इस मामले में मायावती के आवास पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ तकरीबन डेढ़ घंटा चर्चा हुई. हालांकि नए साल की इस पहली बैठक को शिष्टाचार के नाते हुई मुलाकात  का नाम दिया जा रहा है।

सूत्रों की मानें तो इस लंबी मुलाकात में यूपी में लोकसभा चुनाव में सीट के बंटवारे को लेकर चर्चा हुई. दोनों पार्टियों ने लोकसभा चुनाव जीतने के लिए सीटों के नए फॉर्मूले पर बात की है. सूत्रों के मुताबिक इस बार लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश की 35 सीटों पर और बसपा 36 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है।

वहीं ऐसी खबरें हैं कि 3 सीटें अजीत सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल को दी जा सकती हैं. और 4 सीटों को रिजर्व रखा जाएगा. वहीं कांग्रेस के गढ़ माने जाने वाले अमेठी और रायबरेली में सपा-बसपा का यह गठबंधन कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगा।

लोकसभा की सबसे ज्यादा सीटें उत्तर प्रदेश में हैं. यूपी में 80 सीटें हैं, ये आंकड़ा चुनाव जीतने के लिए यूपी को महत्वपूर्ण बनाता है. बीते दिनों हुए लोकसभा और विधानसभा उपचुनाव में सपा-बसपा गठबंधन को जीत मिली थी. इसके बाद से ही इन दोनों के मिलकर चुनाव लड़ने के कयास लगाए जा रहे थे. लेकिन इस गठबंधन में सबसे बड़ा पेंच सीटों के बंटवारे को लेकर था।

लेकिन अब सपा और बसपा ने चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे का नया फॉर्मूला निकाल लिया है. इस नए फॉर्मूले के अंतर्गत सपा के 35 सीट और बसपा के 36 सीटों पर चुनाव लड़ने की खबर आ रही है.।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।