fbpx
Advertisements
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

झरना तीर्थ स्थल में वनभोज कार्यक्रम व कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक

रिपोर्टर - विवेक चौबे

कांडी- प्रखंड के सतबहीनी झरना तीर्थ स्थल के झरना घाटी में विश्रामपुर-मझिआंव विधानसभा छेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी अजय दुबे ने अपने कार्यकर्ता के साथ एक बैठक कर वन भोज में सामिल हुए। बैठक को संबोधित करते हुए अजय दुबे ने कहा कि हम बराबर जनता के साथ रहा हूँ। लेकिन कुछ लोग रूपये व पैसा बांट रहे हैं ,उन लोगों से सावधान रहने की आवश्यकता है। वैसे लोग जनता से ही शुद्ध समेत अपना पैसा वसूलेंगे। वहीं क्षेत्र में बालू को लेकर कहे कि रघुवर सरकार एक तरफ सबाशी के तरह की बात करते हैं ऑर यहाँ से बालू बाहरी प्रदेशों को बेच रहे हैं। आज यही बालू लोगों को सोलह से अठारह सौ पर ट्रैक्टर मिल रहा है।झरना तीर्थ स्थल में वनभोज कार्यक्रम व कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक झरना तीर्थ स्थल में वनभोज कार्यक्रम व कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक

 

यहाँ के लोगों को घर बनाने में इतना असुविधा हो रहा है वो नहीं देखा जा रहा है। भाजपा नेता कहते हैं सबका साथ सबका विकास लेकिन यहाँ की जनता देख रही है कि झारखंड राज्य सरकार दोहरी नीति अपना रही है। इसी बालू को लेकर हमारे पिता ददई दुबे ने मंत्री पद छोड़ दिए लेकिन बालू पर राजनितिक नहीं किए। उन्होंने कहा कि तीन राज्यों में दस दिन के अन्दर कर्ज माफी को पीएम झुठला रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में अभी तक 23 पारा शिक्षक की मौत हो चुकी है , लेकिन सरकार दमन की नीति अपना रही है।

झरना तीर्थ स्थल में वनभोज कार्यक्रम व कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक झरना तीर्थ स्थल में वनभोज कार्यक्रम व कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक

उन्होंने मंडल डैम पर कहा कि पानी झारखंड का, डुब क्षेत्र झारखंड का , नुकसान भी झारखंड के लोगों का तो पानी बिहार को क्यों दिया जा रहा है। बैठक में बलियारी मुखिया प्रतिनिधि सत्येंद्र साह , घटहुआं उप मुखिया अजीज अंसारी , मोरबे मुखिया आदित्य ठाकुर, शिव प्रसाद गुप्ता , कैलाश नाथ यादव , मुन्ना ठाकुर , इम्तियाज अंसारी , वसीम अंसारी , संजीव उपध्याय , सत्यम तिवारी , डिलर राजेश्वर राम, जय प्रकाश पाठक सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।