fbpx
Advertisements
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

राज्य बाल संरक्षण आयोग सदस्य डा. साक्षी बैजल, डा. शुचिता चतुर्वेदी ने किया एक दिवसीय जनपद भ्रमण

तीन विद्यालयों के निरीक्षण में मिलीं कई लापरवाहियां कस्तूरबा गांधी में नशे में मिले कर्मचारी अजय कुमार पांडे

फिरोजाबाद – राज्य बाल संरक्षण आयोग के सदस्य डा. साक्षी बैजल एवं डा. शुचिता चतुर्वेदी ने जनपद फिरोजाबाद के एकदिवसीय भ्रमण के दौरान जिला मुख्यालय के पास स्थित तीन विद्यालयों का निरीक्षण किया। इस दौरान हर विद्यालय में लापरवाही ज्यादा नजर आयीं l

राज्य बाल संरक्षण आयोग सदस्य डा. साक्षी बैजल, डा. शुचिता चतुर्वेदी ने किया एक दिवसीय जनपद भ्रमण

राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय में जाने पर निरीक्षण के दौरान पता चला कि यहां बच्चों को न साबुन, रोजमर्रा की चीजें तीन महीने से उपलब्ध नहीं है। रजिस्टर मैंटेन काफी समय से नहीं हैं, खास बात जब खाने की गुणवत्ता देखने को गयीं तो देखा दो बच्चे एक थाली में खाना खा रहे हैं जो ठीक नहीं लगा। चावल की गुणवत्ता अच्छी नहीं पायी गयी। इसके अलावा दूध में पानी मिलाने की स्थिति भी सामने आयी l

राज्य बाल संरक्षण आयोग सदस्य डा. साक्षी बैजल, डा. शुचिता चतुर्वेदी ने किया एक दिवसीय जनपद भ्रमण

वहीं आगे पूर्व माध्यमिक विद्यालय सिविल लाइन दबरई का निरीक्षण करने के साथ ही कस्तूरबा गांधी विद्यालय का निरीक्षण किया तो वहां की स्थिति राजकीय पद्धति आश्रम से थोड़ा अच्छी पायी गयी। कमियों में कम्प्यूटर नहीं केवल मौखिक कम्प्यूटर पढ़ाया जा रहा है बिल्डिंग का निर्माण अच्छे से नहीं बच्चे बगल की बिल्डिंग में पढ़ रहे हैं, सबसे चौका देने वाली बात यह सामने आयी कि यहां के समेकित शिक्षा के जिला कोर्डीनेटर अजय कुमार पांडे नशे में पाये गये, जबकि ये गर्ल्स स्कूल है, गणित की शिक्षिका दो माह और इंग्लिश की एक माह से अनुपस्थित है l

 

आगे मीडिया से वार्ता के दौरान उन्होंने बताया कि राज्य बाल संरक्षण आयोग द्वारा राज्य सरकार को अवगत इन सब कमियों से अवगत कराया जायेगा। जो भी कार्यवाही होगी ऊपर से ही निर्धारित की जायेगी l

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।