fbpx
Advertisements
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

चीन ने विकसित किया आधुनिक समुद्री रेडार, नौसेना समुद्री इलाकों पर रख सकेगी पूरी तरह से नजर

नई दिल्ली. चीन ने कॉम्पैक्ट साइज का एक ऐसा आधुनिक समुद्री रेडार विकसित कर लिया है जो भारत के आकार के क्षेत्र की लगातार निगरानी कर सकता है. बुधवार को मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया कि घरेलू स्तर पर विकसित किए गए इस रेडार सिस्टम के जरिए चीन की नौसेना देश के समुद्री इलाकों पर पूरी तरह से नजर रख सकेगी. इसके साथ ही यह सिस्टम मौजूदा टेक्नॉलजी की तुलना में दुश्मन के जहाजों, विमानों और मिसाइलों से आते खतरे को लेकर काफी पहले ही फौज को अलर्ट कर देगा.

हॉन्ग कॉन्ग स्थित साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने चीन के इस ओवर-द-हॉरिजन (OTH) रेडार प्रोग्राम में शामिल वैज्ञानिकों के हवाले से यह जानकारी दी. पोस्ट के मुताबिक चाइनीज अकैडमी ऑफ साइंसेज (CAS) के शिक्षाविद लियू योंगतान को चीन के रेडार टेक्नॉलजी को अपग्रेड करने का श्रेय दिया जाता है. चाइनीज अकैडमी ऑफ इंजिनियरिंग का भी इसमें अहम योगदान है.

इस आधुनिक कॉम्पैक्ट साइज के रेडार की सबसे बड़ी खासियत है कि PLA नेवी के विमानवाहक बेड़े में तैनाती के बाद यह किसी छोटे-मोटे इलाके पर नहीं भारत के आकार के इलाके पर लगातार निगरानी कर सकता है. चीन के लिए यह रेडार कितना महत्वपूर्ण है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राष्ट्रपति ने इस रेडार को विकसित करने के लिए लियू योंगतान और एक अन्य मिलिट्री साइंटिस्ट कियान क्विहू को विज्ञान के क्षेत्र में दिए जाने वाले देश के सबसे बड़े पुरस्कार से सम्मानित किया. कियान को देश की मॉडर्न डिफेंस इंजिनियरिंग के लिए सैद्धांतिक प्रणाली तैयार कर लिए सम्मान से नवाजा गया. उन्होंने अंडरग्राउंड न्यूक्लियर शेल्टर फसिलटीज तैयार करने में भी बड़ी भूमिका निभाई थी.

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।