Jan Sandesh Online ,Latest Hindi News Portal

‘‘आरक्षण नहीं रोजगार चाहिए, हमें हमारा हक चाहिए’’ : पल्लवी पटेल

लखनऊ। सामान्य वर्ग के लोगों को आर्थिक आधार पर आरक्षण देने के विधेयक का अपना दल की प्रदेश अध्यक्ष पल्लवी पटेल ने कड़ा विरोध करते हुए बताया की देश में प्रतिदिन 550 नौकरियाँ खत्म हो रही हैं और लगभग 15 करोड़ से अधिक बेरोजगार युवा है, ऐसे में जब केंद्र सरकार को उनके रोजगार की चिंता करनी चाहिए तो वो आरक्षण के नाम पर उनमें फूट डालने की कोशिश कर रही है।

बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में प्रतिवर्ष 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन अपने इस वादे को वो पूरा करने में नाकाम रही है और अपनी इस विफलता को छिपाने के लिए अब देश के युवाओं को सामान्य वर्ग को आरक्षण देकर गुमराह कर रही है। ‘‘आरक्षण नहीं रोजगार चाहिए, हमें हमारा हक चाहिए’’ श्रीमती पटेल ने आगे बताया कि अब लड़ाई 10 प्रतिशत आरक्षण की नहीं है, बल्कि रोजगार की है यदि रोजगार के अवसरों को ही धीरे-धीरे खत्म कर दिया जायेगा तो आरक्षण किस काम का रह जायेगा, सवाल ये है कि जिस देश में इतनी बड़ी आबादी बेरोजगारी की समस्या झेल रही हो वहां की सरकार अगर आपसे तब भी आरक्षण की बात करे तो सावधान हो जाइये क्योंकि आपके साथ धोखा हो रहा है।

और पढ़ें
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.