fbpx
Advertisements
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

हत्या का रहस्य खुला: बीजेपी नेता ने ‘दृश्यम’ देख बेटों संग रची युवती की हत्या की  साजिश

इंदौर । विवाहेतर संबंधों से कलह के चलते युवती के दो साल पुराने हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने शनिवार को स्थानीय भाजपा नेता और उसके तीन बेटों समेत पांच लोगों को धर दबोचा। पुलिस का दावा है कि आरोपियों ने अजय देवगन की प्रमुख भूमिका वाली मशहूर थ्रिलर फिल्म ‘दृश्यम’ देखकर हत्याकांड की साजिश रची थी।

पुलिस का दावा है कि आरोपियों ने अजय देवगन की प्रमुख भूमिका वाली मशहूर थ्रिलर फिल्म दृश्यम देखकर हत्याकांड की साजिश रची थी। पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरिनारायणचारी मिश्रा ने बताया, बाणगंगा क्षेत्र में रहने वाली ट्विंकल डागरे (22) की हत्या के मामले में बीजेपी नेता जगदीश करोतिया उर्फ कल्लू पहलवान (65), उनके तीन बेटों अजय (36), विजय (38) और विनय (31) और उनके साथी नीलेश कश्यप (28) को गिरफ्तार किया गया है।

अन्य महिला से पहले से विवाहित जगदीश करोतिया के ट्विंकल के साथ कथित तौर पर नाजायज रिश्ते थे। ट्विंकल जगदीश के साथ उनके घर में रहना चाहती थी। इस बात पर जगदीश के परिवार में आए दिन कलह होता था। कलह से परेशान करोतिया और उनके बेटों ने ट्विंकल की हत्या की साजिश रची। उन्होंने आगे बताया, 16 अक्टूबर 2016 को रस्सी के फंदे से युवती का गला घोंट दिया। फिर उसकी लाश को जला दिया।

जिस जगह युवती की लाश जलाई गई थी, वहां से पुलिस ने उसकी बिछिया (पैर की उंगली में पहना जाने वाला गहना) और ब्रेसलेट बरामद किया है। हमें पता चला है कि आरोपियों ने हत्याकांड की साजिश रचने के दौरान दृश्यम फिल्म देखी थी। उन्होंने इस फिल्म के एक सीन की तर्ज पर कुत्ते के शव को एक स्थान पर गाड़ दिया था। फिर यह बात जान-बूझकर फैला दी थी कि उन्होंने गड्ढे में किसी का शव गाड़ा है।

डीआईजी ने आगे बताया, जब पुलिस ने इस स्थान की खुदाई कराई तो वहां से कुत्ते के शव के अवशेष बरामद किए गए। इससे पुलिस की जांच कुछ समय के लिये भटक गई। वैज्ञानिक तरीके से मामले की गुत्थी सुलझाने के लिए गुजरात की एक प्रयोगशाला में करोतिया और उनके दो बेटों का ब्रेन इलेक्ट्रिकल आसलेशन सिग्नेचर (बीईओएस) टेस्ट कराया गया।

शहर के इतिहास में किसी आपराधिक वारदात को सुलझाने के लिए पहली बार बीईओएस टेस्ट कराया गया। ट्विंकल के परिजन प्रदेश की पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार के राज में तत्कालीन विधायक सुदर्शन गुप्ता पर करोतिया और उनके बेटों को पुलिस संरक्षण देने का आरोप लगाते रहे हैं। हालांकि, इस बारे में पूछे जाने पर डीआईजी ने कहा कि मामले में गुप्ता की किसी भूमिका को लेकर पुलिस को अभी कोई भी सबूत नहीं मिला है और विस्तृत जांच जारी है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।