fbpx
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal,hindi news,

टीम इंडिया का शंखनाद, ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से दी पटखनी

टीम इंडिया ने शनिवार को पहले वन-डे में ऑस्ट्रेलिया को छह विकेट से हराकर पांच मैचों की वन-डे सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। हैदराबाद के राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए पहले वन-डे में ऑस्ट्रेलिया ने भारत के सामने 237 रन का लक्ष्य रखा। जवाब में टीम इंडिया ने 10 गेंदे शेष रहते ही लक्ष्य को हासिल कर लिया। टीम इंडिया की तरफ से केदार जाधव और एमएस धोनी के बीच 141 रन की अटूट साझेदारी हुई।

इस मुकाबले में धोनी ने 68 गेंदों में अपने वन-डे करियर का 71वां अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने 72 गेंदों का सामना करते हुए छह चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 59 रन बनाए। वहीं, केदार जाधव ने 67 गेंदों में फिफ्टी जमाई। 87 गेंदों में 9 चौके और 1 छक्के की मदद से उन्होंने 81 रन की नाबाद पारी खेली। इसके लिए उन्हें मैन ऑफ मैच चुना गया।

ऑस्ट्रेलिया के 237 रन के जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को पहला झटका शिखर धवन के रूप में लगा। दूसरे ओवर की पहली ही गेंद पर कोल्टर नाइल ने धवन को मैक्सवेल के हाथों झिलवाया। अपनी पहली ही गेंद पर विकेट गंवा बैठे शिखर का फॉर्म भारतीय टीम के लिए चिंता का सबब होगा। यहां से कप्तान विराट कोहली ने उपकप्तान रोहित शर्मा के साथ मिलकर न सिर्फ टीम को संभाला बल्कि दूसरे विकेट के लिए 76 रन भी जोड़े।

भारत आसानी से जीत की ओर बढ़ती दिख रही थी, तभी स्पिनर एडम जंपा ने एकबार फिर विराट कोहली को अपना शिकार बनाया। 17वें ओवर की आखिरी गेंद पर हुई एक भारी अपील को अंपायर ने ठुकरा दिया। मगर ऑस्ट्रेलिया ने डीआरएस लेने में कोई देरी नहीं की। फैसला भारत के खिलाफ गया और 45 गेंद में 44 रन बनाने के बाद विराट को लौटना पड़ा। यह पिछले तीन मैच में दूसरा मौका था जब विराट को जंपा ने आउट किया।

इसके बाद 21वें ओवर की पांचवीं गेंद पर नाथन कोल्टर नाइल ने रोहित को कंगारू कप्तान आरोन फिंच के हाथों कैच आउट कराया। उन्होंने 66 गेंदों में पांच चौके की मदद से 37 रन बनाए। तीसरे विकेट के लिए उन्होंने रायुडू के साथ मिलकर 15 रन की साझेदारी की। 23.3 में जंपा ने टीम इंडिया को चौथा झटका दिया। उन्होंने रायुडू (13) को पीटर हैंड्सकॉम्ब के हाथों कैच आउट कराया। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से एडम जंपा और नाथन कोल्टर नाइल ने 2-2 विकेट झटके।

इसके पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया ने निर्धारित 50 ओवर्स में सात विकेट खोकर 236 रन बनाए। पूरे मैच में भारतीय गेंदबाजों ने कंगारुओं को हावी नहीं होने दिया।

ऑस्ट्रेलिया की ओर से सलामी बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा ने सर्वाधिक 50 रन बनाए तो ग्लेन मैक्सवेल ने 40 रन की पारी खेली। भारत के लिए मोहम्मद शमी (10 ओवर्स में 44 रन), जसप्रीत बुमराह (10 ओवर में 60 रन) और ‘चाइनामैन’ कुलदीप यादव (10 ओवर में 46 रन) ने 2-2 विकेट चटकाए। केदार जाधव के खाते में 1 विकेट आया।

एक समय ऑस्ट्रेलियाई टीम बेहद कम स्कोर पर सिमटते नजर आ रही थी। मगर सातवें विकेट के लिए एलेक्स कैरी (36*) और कोल्टर नाइल (28*) के बीच 62 रन की साझेदारी ने उन्हें सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी कंगारू टीम की शुरुआत बेहद निराशाजनक रही। जब बुमराह ने विपक्षी कप्तान आरोन फिंच को दूसरे ओवर की तीसरी गेंद पर ही बिना खाता खोले लौटा दिया। सटीक लाइन पर पड़ी जसप्रीत बुमराह की एक गुडलेंथ गेंद पर आरोन फिंच गच्चा खा गए। उनके बल्ले का मोटा किनारा लेते हुए गेंद विकेट के पीछे एमएस धोनी के दस्तानों में समां गई।

दूसरे ओवर में ही लगे इस झटके के बाद बल्लेबाजी में प्रमोट किए गए हरफनमौला खिलाड़ी मार्कस स्टोइनिस ने जबरदस्त खेल दिखाया। उस्मान ख्वाजा के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 87 रन की शानदार साझेदारी की।

इस साझेदारी को तोड़ने के लिए विराट ने अपने सभी गेंदबाजों को आजमा लिया, लेकिन सफलता 21वें ओवर में केदार जाधव को मिली। अर्धशतक की ओर बढ़ रहे इस खिलाड़ी को विराट कोहली ने शॉट मिड विकेट पर लपका। आउट होने से पहले उन्होंने 6 चौके की मदद से 53 गेंदों में 37 रन बनाए।

इसके दो ओवर बाद ही उस्मान ख्वाजा भी आउट हो गए। कुलदीप यादव की एक लेंथ बॉल को मिडविकेट क्षेत्र में मारने के प्रयास में वे विजय शंकर द्वारा लपके गए। इसे कुलदीप यादव की जगह विजय शंकर का कैच कहा जाए तो गलत नहीं होगा। शंकर ने दौड़ते हुए बाउंड्री पर एक दर्शनीय कैच लिया। आउट होने से पहले ख्वाजा ने 76 गेंदों में 5 चौके और एक छक्के की मदद से 50 रन बनाए।

24वें ओवर में चौथा विकेट गिरने के बाद 30वें ओवर की आखिरी गेंद पर पीटर हैंड्सकॉम्ब के रूप में ऑस्ट्रेलिया को चौथा झटका लगा। कुलदीप यादव की ललचाती हुई गेंद पर पीटर हैंड्सकॉम्ब (19) बड़ा शॉट लगाना चाहते थे, लेकिन वे पूरी तरह चूक गए। इसके बाद विकेट के पीछे मुस्तैद धोनी ने उन्हें स्टंपिंग करने में कोई सुस्ती नहीं दिखाई।

इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई के लिए मोहम्मद शमी कहर बनकर टूट पड़े। पहले उन्होंने 37.5 ओवर में डेब्यूटेंट एश्टन टर्नर (21) को क्लीन बोल्ड किया तो फिर इसके बाद अपने अगले ही ओवर में खतरनाकर फॉर्म में चल रहे ग्लेन मैक्सवेल (40) की भी गिल्लियां बिखेर दी।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।
%d bloggers like this: