fbpx
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद का चीफ मसूद अजहर की मौत हो गयी ?

नई दिल्ली। जैश ए मोहम्मद का सरगना मसूद आतंकी अजहर की मौत हो गयी है। ऐसा मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से कहा जा रहा है। ऐसा कहा जा रहा है कि 2 मार्च को जैश सरगना मसूद अजहर की मौत हो गयी है. हालांकि इस खबर की पाकिस्तान के ओर से भी मौत की पुष्टि नहीं की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस खूंखार आतंकी की पाकिस्तानी आर्मी के इस्लामाबाद हॉस्पिटल में मौत हो गई है। मसूद अजहर के मरने की भले ही खबर चल रही हो लेकिन ये बात तो पक्की है कि वह अस्पताल में भर्ती है और जिंदगी की भीख मांग रहा है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने हाल ही में कहा था कि मसूद अजहर बेहद बीमार है, वह बीमारी से तड़प रहा है, ।उसकी ये हालत है कि वह अपने घर से बाहर नहीं निकल सकता है। 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में बमबारी कर जैश के आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया था। इससे पहले आतंकी सरगना मसूद अजहर के छोटे भाई मौलाना अम्मार ने भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान में घुसकर एयर स्ट्राइक को लेकर ऑडियो सामने आया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह ऑडियो 28 फरवरी का है जिसमें मौलाना अम्मार ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक में बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों के तबाह होने की बात कह रहा है. पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार ताहा सिद्दीकी ने मसूद अजहर के छोटे भाई का ऑडियो ट्विटर पर पोस्ट किया। यह ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। हालांकि इस वीडियो की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

इससे पहले पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के किडनी खराब होने की खबरें सामने आई थी. ऐसा बताया जा रहा है कि उसका पाकिस्तान में रावलपिंडी के एक सैन्य अस्पताल में नियमित डायलसिस किया जा रहा है। सुरक्षा अधिकारियों ने शनिवार को यह बात कही. इससे पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि जैश का सरगना बीमार है। कुरैशी ने गुरुवार को कहा था, मुझे मिली जानकारी के मुताबिक वह पाकिस्तान में ही है. वह इस हद तक बीमार है कि घर से बाहर भी नहीं निकल सकता. वह काफी बीमार है।

Terrorist-organization-Jaish-e-Mohammad-gangster-Masood-Azhar

 

मसूद अजहर ने भारत के खिलाफ साजिश रचने के लिए साल 2000 में जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) नाम के एक आतंकी संगठन का गठन किया. मसूद पहले इसे हरकत-उल-मुजाहिदीन के बैनर के तहत चलता था जो अल-कायदा से जुड़ा हुआ था।

अजहर को 1994 में जम्मू-कश्मीर में जिहाद का पाठ पढ़ाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। अजहर ने जैश की स्थापना साल 1999 में रिहा होने के बाद की थी.। साल 1999 में कंधार विमान अपहरण कर आतंकियों ने मसूद अजहर को छुड़ा लिया था. तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने उसे रिहा किया था।

हाल ही में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा हमले में भारत के 40 सीआरपीएफ जवानों ने शहादत दी थी. इस आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी जैश ने ही ली थी. भारत ने जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े आतंकवादी शिविर पर बमबारी की थी। बालाकोट के इस शिविर का नेतृत्व मौलाना यूसुफ अजहर कर रहा था. यूसुफ अजहर, जेईएम प्रमुख मसूद अजहर का संबंधी है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।
%d bloggers like this: