fbpx
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal

कुशीनगर में होली पर मोदी,योगी का मुखौटा गायब बच्चों को लुभा रही है मशीनगन,व गणेशा वाली पिचकारी

रिपोर्ट उपेंद्र कुशवाहा
पडरौना,कुशीनगर : होली में अभी भले ही चार दिन का समय है पर उसकी रंगत अभी से दिखने लगी है। पिचकारी व रंग-गुलाल की मार्केट गुलजार हो गई है। इस बार मार्केट में मोदी व योगी वाली मुखौटा गायब है,जबकि आर्मी के नाम से आई पिचकारी लोगों को लुभा रही है। हालांकि,जीएसटी की वजह से पिचकारी के दामों में करीब 20 फीसदी तक बढ़ोतरी है।
हिन्दुओं का प्रमुख त्योहार होली इस बार 20 व 21 मार्च को मनाया जाएगा। त्योहार की खुशियां अभी से दिखने लगी है। रंग-गुलाल व पिचकारी की मार्केट सज गई है। पडरौना शहर के सुबाष चौक,तिलक चौक,गुदरी बाजार समेत अन्य स्थानों पर पिचकारी व रंग-गुलाल की दुकान लग गई हैं। हालांकि,अभी थोक की बिक्री अधिक है। इन स्थानों पर बड़े व्यापारियों से गांव व कस्बों के व्यापारी खरीदारी कर रहे हैं। मार्केट में पांच रुपए से लेकर एक हजार रुपए तक की पिचकारी उपलब्ध है। हालांकि, 10 रुपए से 200 रुपए तक की पिचकारी लोगों की पसंद हैं। इसमें प्रेसर टैंक,बैग वाली पिचकारी व इंडियम आर्मी पिचकारी मशीनगन,वाटर गन की डिमांड ज्यादा है। बच्चे डोरेमन, पोकेमन,छोटा भीम व गणेशा वाली पिचकारी खरीद रहे हैं।
भालू व बाल वाली टोपी की डिमांड:
पिचकारी के साथ अब टोपी व मास्क की भी डिमांड बढ़ गई है। भालू व बाल वाली टोली पहली पसंद बन रहे हैं। हालांकि,गांधी टोपी,हैट आदि वैरायटी मार्केट में उपलब्ध है। टोपी भी 10 रुपए से लेकर 300 रुपए तक उपब्ध है।
पहली बार आया कलर बम:
पहली बार मार्केट में होली पर्व को लेकर कलर बम आया है। जिसे दगाने पर रंग व गुलाल निकलता है। कलर भाग बम का रेट 15 व 35 रुपए प्रति पीस है। वहीं,फाग स्पे्र भी मार्केट में उपलब्ध है। जिसकी डिमांड की जा रही है। फाग स्प्रे के दाम 35, 50 व 100 रुपए प्रति पीस है।
बीते वर्ष की तुलना में बढ़े दाम:
पडरौना नगर के महाबिरी गली की सबसे पुरानी पिचकारी दुकान के संचालक बंटी गुप्ता ने बताया कि बीते वर्ष की तुलना में इस बार दाम बढ़े हैं। इसके पीछे पिचकारियों पर लगने वाले 12 प्रतिशत जीएसटी है। इस वजह से पिचकारियों के दाम 12 से 20 प्रतिशत तक बढ़ गए हैं।
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।
%d bloggers like this: