Jan Sandesh Online hindi news website

इन नेताओं के लिए सत्ता के दरवाजे बंद !

नई दिल्ली। भाजपा नेतृत्व ने बड़ी चतुराई से 75 वर्ष की आयु पार कर चुके नेताओं के लिए सत्ता के दरवाजे बंद कर दिए है! खबर है कि बीजेपी नेतृत्व ने साफ किया कि वह 75 वर्ष की आयु पार कर चुके दिग्गज नेताओं को भी लोकसभा चुनाव में टिकट देगी, लेकिन पार्टी का यह भी कहना है कि- ये इन दिग्गज नेताओं की मर्जी पर निर्भर करेगा कि वे चुनाव लड़ना चाहते हैं या नहीं? अलबत्ता, इसके साथ-साथ बीजेपी नेतृत्व ने ये भी साफ कर दिया है कि केन्द्र में सरकार बनने पर मंत्रिमंडल में जगह पाने के लिए 75 वर्ष की आयु सीमा लागू रहेगी, अर्थात- 75 पार नेता सांसद भले ही बन जाएं, मंत्री पद नहीं मिलेगा!

बीजेपी में लालकृष्ण आडवाणी (91), मुरली मनोहर जोशी (85), शांता कुमार (84), कलराज मिश्रा (77), सुमित्रा महाजन (75) जैसे वरिष्ठतम नेता चुनाव जीत भी गए तो उनकी केन्द्र सरकार में कोई सक्रिय भूमिका नहीं रहेगी, मतलब- ये सांसद केवल सत्ता के साक्षी रहेंगे? जाहिर है, ये वरिष्ठ नेता चुनाव लड़ने से इसलिए इंकार कर सकते हैं, कि अब आगे कोई नई कामयाबी की कहानी तो लिखी नहीं जाएगी, उल्टे चुनाव हारने का डर और बना रहेगा, जिसकी वजह से जीवनभर के सफल सियासी सफर पर प्रश्नचिन्ह भी लगा सकता है! वैसे तो 75 पार के अलावा उमा भारती, सुषमा स्वराज आदि ने भी आगे लोकसभा चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है।

और पढ़ें
1 of 75

नई सियासी चुनावी तस्वीर में बीजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं की गैरमौजूदगी के कारण बीजेपी के लिए ऐसी सीटों से जिताउ उम्मीदवार तलाशना भी बड़ी चुनौती है. देशभर में कई वरिष्ठनेता अपनी जगह अपने रिश्तेदारों को टिकट दिलाने को इच्छुक हैं, परन्तु विस चुनाव की तरह वंशवाद को इस बार भी हरी झंडी मिलेगी या नहीं, यह देखना दिलचस्प होगा! बहरहाल, उम्मीदवारों की घोषणा का इंतजार बेसब्री से हो रहा है, इनकी घोषणा होते ही यह साफ हो जाएगा कि अब बीजेपी नेतृत्व किस दिशा में आगे बढ़ रहा है ?

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.

%d bloggers like this: