fbpx
jansandesh online,Hindi News, Latest Hindi news,online hindi news portal,hindi news,

मेरे पिता की मौत का कारण दारू नहीं,बल्कि हत्या है : जित्येन्द्र

रिपोर्ट विवेक चौबेगढ़वा : जिले के कांडी थाना क्षेत्र के सोहगाड़ा हाइ स्कूल के पास बुधवार को संग्रहे खुर्द के बिनवाडीह निवासी-जनकधारी बिंद के 45 वर्षीय पुत्र-विनोद विन्द के रूप में शव पाया गया था,जिसकी खबर जानकर थाना क्षेत्र में सनसनी फैल गयी थी।विनोद विन्द की मौत कैसे हुई यह जानकारी लेने के लिए मीडिया घटना स्थल पर पहुंची।घटना स्थल के आस-पास के लोगों ने कुछ भी बताने से साफ इनकार किया।वहीं भट्ठा के मुंशी-निवास पाठक के अनुसार मृतक आठ माह पूर्व मजदूरी करने के नाम पर बीस हजार रु.एडवांस लिया था।मंगलवार को कुछ लोगों के द्वारा उसे सुबह आठ बजे ईंट भट्ठा पर लाया गया।भठ्ठा पर रहने के लिए विनोद ने जगह का साफ-सफाई भी किया।बतौर निवास पाठक से बुधवार की सुबह राशन पानी के लिए 500 रु. लिया तथा हाइ स्कूल सोहगड़ा स्थित दुकान से राशन-चावल,आलू,टमाटर,नमक आदि खरीद कर एक झोले में रखकर बैजनाथ विश्वकर्मा के वेल्डिंग दुकान में रख दिया था।उसकी मौत की खबर की सूचना पाकर कांडी थाना एसआई-शौकत खां घटना स्थल पर दल-बल के साथ पहुंच कर शिनाख्त के लिए शव को सदर अस्पताल गढ़वा भेज दिया था।वहीं मृतक के परिजन व रिश्तेदारों ने गढ़वा NH-75 पर शव रख कर सड़क जाम कर दिया।परिजनों के अनुसार मृतक की मौत का कारण दारू नहीं,बल्कि हत्या बताया जा रहा है।सड़क जाम कर मुआवजे के लिए गुहार लगा रहे थे लोग।मृतक पुत्र -जितेंद्र कुमार बिंद व परिजन ने हत्या का आरोप भट्ठा मालिक- मुन्ना सिंह सहित तीन लोगों पर आरोप लगाया।जित्येन्द्र ने बताया कि छतरपुर निवासी-लखन बिंद पिता- स्वर्गीय वासुदेव बिंद, दिलीप बिंद पिता-लखन बिंद व संग्रहे खुर्द निवासी- शिवपूजन बिंद का नाम शामिल है।मृतक पुत्र ने उक्त हत्यारों पर मारपीट के बाद हत्या कर स्कूल के पीछे फेंक देने का आरोप लगाया।मृतक पुत्र-जितेन्द्र विंद ने बताया कि 06 मई को सुबह 7:00 बजे मेरे पिता जी को बुलाने के लिए भंडरिया निवासी भट्ठा मालिक-मुन्ना सिंह ने लखन बिंद,दिलीप बिंद व शिवपूजन बिंद तीनों को मेरे घर पर भेजा की ईंट भट्टा के मुन्ना सिंह आपको बुलाए हैं,जल्द चलिए।तब जितेन्द्र विंद के पिता ने उक्त तीनों लोगों से कहा की मेरे घर पर शादी है।शादी के बाद मैं वहां पर आकर उनसे मिल लूंगा,किन्तु घर पर पहुंचे तीनों व्यक्ति जबरदस्ती बहला-फुसलाकर भट्ठा पर ले गए।साथ हीं मृतक पुत्र- ने बताया कि मेरे गांव के लोग वहां पर मजदूरी करते हैं।उन्हीं लोगों के द्वारा जानकारी मिली की स्कूल के पीछे तुम्हारे पिता का शव पड़ा हुआ है।इस प्रकार मृतक पुत्र व परिजन ने विनोद विन्द की मौत का कारण दारू नहीं बल्कि साफ तौर पर हत्या बताया।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।
%d bloggers like this: