Jan Sandesh Online hindi news website

चंद दिनो की मेहमान होती है लीची

चंद दिनो की मेहमान कहे जाने वाली लीची एक फल है जैसे माने लोगों के घरो पर आने वाला मेहमान जिस तरह आता है बहुत जल्दी ही वह चला भी जाता है, एसे मे ठीक उसी प्रकार का यह लीची भी आती है और कम समय मे मेहमान की तरह लोगो के बीच से बिदा हो जाती है ।
और पढ़ें
1 of 315
उधर बर्तमान इस फल को खरीदने के लिए कुशीनगर जिले के पडरौना शहर मे लोगो की भीड उमड रही है | हालाकी शहर व देहात मे 60 से 70 रुपया किलो बाजार में बीक रही है |
You might also like
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed.

%d bloggers like this: