Jan Sandesh Online ,Latest Hindi News Portal

सोमालिया: महामारी, भुखमरी और असाध्य रोगों से 20 लाख लोगों की हो सकती है मौत: संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र। यूएन के अंडरसेक्रेटरी जनरल मार्क लोकॉक ने कहा कि सूखा पड़ने के बाद सोमालिया को करीब 70 करोड़ डॉलर की जरूरत है। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के एक आपात राहत समन्वयक ने कहा कि यदि सोमालिया को तुरंत अंतरराष्ट्रीय मदद नहीं भेजी गई तो गर्मी के मौसम के अंत तक 20 लाख से अधिक लोग मर सकते हैं।

बारिश नहीं होने से पशुओं की मौत हो रही है और फसल बर्बाद हो चुकी है। उन्होंने कहा कि यूएन के केंद्रीय आपदा राहत कोष ने सूखे से प्रभावित इथियोपिया और केन्या के साथ-साथ सोमालिया में दैनिक आवश्यकता की चीजों, पानी और खाने की कमी को पूरा करने के लिए 4.5 करोड़ डॉलर की राशि आवंटित की है।

और पढ़ें

मार्क ने कहा कि सोमालिया की आबादी 1.5 करोड़ है , इसमें से 30 लाख लोग सिर्फ भोजन की न्यूनतम आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। भोजन की कमी की स्थिति पिछली सर्दियों की तुलना में काफी खराब हो गई है। लोकॉक ने कहा, श्ऐसे समुदाय जो पहले से ही गरीबी और न्यूनतम आवश्यकताओं की कमी के संकट से जूझ रहे हैं, उनके लिए स्थिति भयावह है। सूखे के कारण भूख और गरीबी का स्तर बहुत अधिक है।

लोगों के पास पीने के लिए पर्याप्त पानी तक नहीं है। ऐसे सुमदाय में असाध्य रोगों और महामारी के फैलने का डर भी बना हुआ है। सोमालिया और उसके पड़ोसी देश इथियोपिया और केन्या में पिछले कुछ वर्षों से जल संकट बना हुआ है। पर्याप्त वर्षा नहीं होने के कारण इन देशों में फसल पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है और खाद्यान्न का संकट गहरा गया है। तीनों देशों के निवासियों के पास खाने और पीने के लिए पर्याप्त साधनों की कमी है। संयुक्त राष्ट्र ने विश्व समुदाय से तत्काल इस संकट पर ध्यान देने और सहायता के लिए कदम उठान की जरूरत पर बल दिया।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.