Jan Sandesh Online ,Latest Hindi News Portal

कौशाम्बी के नगर पंचायत अझुवा से दो किलोमीटर दूर भैरों बाबा का प्रसिद्ध स्थान पर भक्तो का उमडा जन सैलाब

कौशाम्बी के नगर पंचायत अझुवा से दो किलोमीटर की दूरी पर भैरों बाबा का प्रसिद्ध देव स्थान जो सैकड़ों साल पुराना लोगों की आस्था है कि यहां जो कुछ मांगो पूरा होता है गर्मी हो या तपन इस भीषण गर्मी में भी भक्तों का रहा रेला  भैरों बाबा देव स्थान पर आज हजारों की संख्या में आये भक्तों ने दर्शन कर आशीर्वाद लिया अझुवा से लगा भैरों बाबा के भक्त काफी दूर-दूर से व अन्य जनपदों से आते हैं और मन्नत पूरी होने पर संकरा चढ़ाते हैं सकरा क्यो चढते है क्योंकि इसकी एक पुरानी कहानी है इस स्थान के बगल से मेन रेलवे लाइन है लोगों का कहना है कि एक दिन अचानक रेलवे की माल गाडी भैरों बाबा के स्थान पर आ के बन्द हो गई और उस माल गाडी को स्टार्ट करने के लिए बडे बडे इन्जीनियर आये लेकिन उस इन्जन को स्टार्ट नही कर पाये और हार गये l

कौशाम्बी के नगर पंचायत अझुवा से दो किलोमीटर दूर भैरों बाबा का प्रसिद्ध स्थान पर भक्तो का उमडा जन सैलाब
कौशाम्बी के नगर पंचायत अझुवा से दो किलोमीटर दूर भैरों बाबा का प्रसिद्ध स्थान पर भक्तो का उमडा जन सैलाब
और पढ़ें

इस करिश्मा को देखने के लिए गांव के कुछ लोग आये उन्ही लोगों मे से एक ब्यक्ति ने कहा कि भैरो बाबा से बिनती करे तो इन्जन स्टार्ट हो जायेगा वह सारे लोग उसकी हंसी उडा रहे थे इस तरह कई दिन बीत गये तभी माल गाडी का ड्राइवर बोला कि हमे उस अदमी की बात मानकर देख लेते हैं हमारा क्या जायेगा तब रेल के कर्मचारी व इन्जीनियर भैरो बाबा के स्थान पर जाकर बिनती की और माफी मांगी फिर गाडी के पास आ कर उनका नाम लेकर इन्जन स्टार्ट किया तो इन्जन स्टार्ट हो गया वह सब लोग खुशी से झूम उठे तभी से रेलवे विभाग उस स्थान पर हर साल सकरा चढाती है तभी से इनका एक और नाम सकरा बाबा पड़ा सच्चे दिल से मांगी मुराद पूरी करते हैं अझुवा व धुमाई के बीच स्थित भैरों बाबा सैकड़ों वर्ष पुराने पेड़ पर बिराजमान है भैरों बाबा के स्थान प्रसाद लेने वालों कि लगी रही लाइन समाजसेवी लोगों ने भैरों बाबा के स्थान पर भक्तों को आरो का ठंडा पानी व सरबत पिला कर गर्मी से लोगों को राहत दिलाई समाज सेवी पिंटू गुप्ता कल्लू यादव रिंकू अग्रहारी सचिन कुमार आशीष कुमार बिजय कुमार राजू आदि मौजूद रहे l

जनपद कौशाम्बी के नगर पंचायत अझुवा से दो किलोमीटर की दूरी पर भैरों बाबा का प्रसिद्ध देव स्थान जो सैकड़ों साल पुराना लोगों की आस्था है कि यहां जो कुछ मांगो पूरा होता है गर्मी हो या तपन इस भीषण गर्मी में भी भक्तों का रहा रेला  भैरों बाबा देव स्थान पर आज हजारों की संख्या में आये भक्तों ने दर्शन कर आशीर्वाद लिया अझुवा से लगा भैरों बाबा के भक्त काफी दूर-दूर से व अन्य जनपदों से आते हैं और मन्नत पूरी होने पर संकरा चढ़ाते हैं सकरा क्यो चढते है क्योंकि इसकी एक पुरानी कहानी है इस स्थान के बगल से मेन रेलवे लाइन है लोगों का कहना है कि एक दिन अचानक रेलवे की माल गाडी भैरों बाबा के स्थान पर आ के बन्द हो गई और उस माल गाडी को स्टार्ट करने के लिए बडे बडे इन्जीनियर आये लेकिन उस इन्जन को स्टार्ट नही कर पाये और हार गये इस करिश्मा को देखने के लिए गांव के कुछ लोग आये उन्ही लोगों मे से एक ब्यक्ति ने कहा कि भैरो बाबा से बिनती करे तो इन्जन स्टार्ट हो जायेगा l

वह सारे लोग उसकी हंसी उडा रहे थे इस तरह कई दिन बीत गये तभी माल गाडी का ड्राइवर बोला कि हमे उस अदमी की बात मानकर देख लेते हैं हमारा क्या जायेगा तब रेल के कर्मचारी व इन्जीनियर भैरो बाबा के स्थान पर जाकर बिनती की और माफी मांगी फिर गाडी के पास आ कर उनका नाम लेकर इन्जन स्टार्ट किया तो इन्जन स्टार्ट हो गया वह सब लोग खुशी से झूम उठे तभी से रेलवे विभाग उस स्थान पर हर साल सकरा चढाती है तभी से इनका एक और नाम सकरा बाबा पड़ा सच्चे दिल से मांगी मुराद पूरी करते हैं अझुवा व धुमाई के बीच स्थित भैरों बाबा सैकड़ों वर्ष पुराने पेड़ पर बिराजमान है भैरों बाबा के स्थान प्रसाद लेने वालों कि लगी रही लाइन समाजसेवी लोगों ने भैरों बाबा के स्थान पर भक्तों को आरो का ठंडा पानी व सरबत पिला कर गर्मी से लोगों को राहत दिलाई समाज सेवी पिंटू गुप्ता कल्लू यादव रिंकू अग्रहारी सचिन कुमार आशीष कुमार बिजय कुमार राजू आदि मौजूद रहे l

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.