Jan Sandesh Online ,Latest Hindi News Portal

ICC world cup 2019 : India टीम की किस्मत बदलने की जिम्मेदारी ‘विराट’ के कंधों पर

क्‍या बच पाएगी टीम इंडिया ?

नई दिल्ली। इंग्लैंड की धरती पर दोनों टीमों के बीच अब तक तीन वनडे मैच खेले गए हैं तीनों में कीवी टीम को ही जीत मिली है। बात अगर इंग्लैंड की धरती की हो तो यहां पर न्यूजीलैंड की टीम का आंकड़ा भारतीय टीम पर भारी है। 12वें विश्व कप में अब तक टीम इंडिया ने दो मैच खेले हैं और तीसरे मैच में विराट की टीम का सामना न्यूजीलैंड के साथ नाटिंघम में गुरुवार को होना है।

न्यूजीलैंड की टीम का प्रदर्शन भी इस टूर्नामेंट में अब तक कमाल का रहा है और उसने भी अपने पहले तीनों मैच जीते हैं। यानी दोनों टीमें कमाल की हैं और शानदार आत्मविश्वास के साथ एक-दूसरे के खिलाफ मैदान पर उतरेंगी। कमाल की बात ये है कि दोनों टीमों का तीनों बार मुकाबला विश्व कप के दौरान ही खेला गया।

और पढ़ें

अब चैथी बार इन दोनों टीमों के बीच यहां पर वनडे मैच खेला जाएगा और इस मैच में विराट पर ये जिम्मेदारी है कि वो इतिहास बदलें। विश्व कप की बात करें तो दोनों टीमों के बीच सात मैच खेले जा चुके हैं जिसमें न्यूजीलैंड ने चार और भारत ने तीन मैचों में जीत दर्ज की है। दोनों टीमों के बीच विश्व कप में आखिरी मुकाबला वर्ष 2003 में सेंचुरियन में खेला गया था जहां गांगुली की कप्तानी वाली भारतीय टीम को सात विकेट से जीत मिली थी।

इंग्लैंड में इससे पहले चार विश्व कप का आयोजन हो चुका है और इसमें तीन बार भारत व न्यूजीलैंड का मैच खेला जा चुका है। 1983 में जब टीम इंडिया ने विश्व कप जीता था उस बार भारत का सामना कीवी टीम के साथ नहीं हुआ था।

भारत व न्यूजीलैंड के बीच इंग्लैंड में विश्व कप का पहला मैच 14 जून 1975 में मैनचेस्टर में खेला गया था। इस मैच में कीवी टीम को चार विकेट से जीत मिली थी। दूसरी बार 13 जून 1979 को दोनों टीमों का सामना इंग्लैंड में हुआ था।

इस मैच में भी कीवी टीम ने बाजी मारी और लीड्स में भारत को आठ विकेट से हरा दिया। तीसरी बार दोनों टीमें इंग्लैंड में 12 जून 1999 में भिड़ी थी और नॉटिंघम में खेले गए इस मैच में न्यूजीलैंड को पांच विकेट से जीत दर्ज की थी। अब दोनों टीमों के बीच 13 जून को होने वाले इस मैच में टीम इंडिया अपनी हार का सिलसिला तोड़ पाती है या नहीं ये देखना दिलचस्प होगा।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.