Jan Sandesh Online hindi news website

जनपद में बाल संरक्षण सेवाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाये- जिलाधिकारी।

सीएमओ चिकित्सालयों में पालना शिशु स्वागत केन्द्र की स्थापना शीघ्र करायें।

रिपोर्ट:सैय्यद मकसूदुल हसन

और पढ़ें
1 of 83

सुलतानपुर।।जिलाधिकारी सी0 इन्दुमती की अध्यक्षता में बाल संरक्षण सेवाएं के अन्तर्गत जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक आज कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गयी, जिसमें जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि संकटग्रस्त बच्चों को चिन्हित करना, संकटग्रस्त बच्चों को परामर्श सेवाएं प्रदान किया जाना तथा जनपद में बाल संरक्षण इकाई में रिक्त पदों का प्रकाशन कराते हुए जल्द से जल्द भरे जाने के साथ-साथ व्यापक प्रचार-प्रसार कराये जायें।

जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि जिले में जिला बाल संरक्षण इकाई में रिक्त पदों का प्रकाशन कराते हुए जल्द से जल्द नियुक्ति की जाये तथा किशोर न्याय बोर्ड में रिक्त पद को भी जल्द से जल्द भरा जाये। उन्होंने कहा कि बच्चों की देख-रेख एवं संरक्षण के मामलों में बाल कल्याण समिति के आदेश पर ही नियमानुसार कार्यवाही की जाये तथा वर्तमान समय में जो भी केश हैं उनका निस्तारण नियमानुसार किये जायें साथ ही मामलों का फॉलोअप भी किया जाये। वनस्टाफ सेन्टर से सम्बन्धित कार्यवाही पूरी की जाये। डीएम द्वारा यह भी निर्देशित किया गया कि स्पॉन्सरशिप/फॉस्टर केयर का प्रचार-प्रसार पम्पलेट, होर्डिंग्स के माध्यम से शीघ्र सुनिश्चित किया जाये।
उन्होंने कहा कि स्कूल चलो अभियान, कन्या सुमंगला योजना, स्पॉन्सरशिप/फॉस्टर केयर कार्यक्रम तीनों को शामिल करते हुए अभियान में प्रचार-प्रसार कराये जायें। डीएम ने निर्देशित किया कि जनपद में प्रत्येक बच्चे हेतु सपोर्ट पर्सन नामित कियें, जो कि सम्प्रेक्षणगृह में आवासित बच्चों का फॉलोअप व अन्य कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि जे0जे0 एक्ट के अन्तर्गत बच्चों का मेडिकल तथा विकलांगता के सर्टिफिकेट की सुविधा तत्काल दी जाये। इसके साथ ही प्रत्येक सामुदायिक/प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पालन शिशु स्वागत केन्द्र की स्थापना यथाशीघ्र की जाये, जिस पर सीएमओ द्वारा अवगत कराया गया कि महिला चिकित्सालय में पालना शिशु स्वागत केन्द्र की सथापना की गयी है, जिसकी सूचना शीघ्र उपलब्ध करा दी जायेगी।
बैठक का संचालन करते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी/जिला बाल संरक्षण अधिकारी द्वारा निर्धारित एजेण्डानुसार जिलाधिकारी को वित्तीय वर्ष 2019-20 की कार्य योजना आदि के बारे में चर्चा की गयी, जिसमें संकटग्रस्त बच्चों को चिन्हित करना, अन्य विभागों बच्चों से सम्बन्धित योजना एकत्रित किया जाना, संकटग्रस्त बच्चों को परामर्श सेवाएं प्रदान किया जाना, ग्राम/ब्लाक समिति की बैठक आयोजित कर स्पॉन्सरशिप कार्यक्रम से संकटग्रस्त बच्चों को लाभांवित किया जाना, बाल श्रम से जुड़े बच्चों का सर्वे कराते हुए जे0जे0 एक्ट प्राविधानों के अनुसार पुर्नवासित किया जाना आदि बिन्दु रखे गये।
इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक(ग्रामीण) शिवराज, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 सीबीएन त्रिपाठी, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव प्रतिभा नारायन, जिला प्रोबेशन अधिकारी/जिला बाल संरक्षण अधिकारी विनोद राय, जिला पंचायत राज अधिकारी डॉ0 निरीश चन्द्र साहू, जिला कार्यक्रम अधिकारी रविश्वर कुमार राव, अध्यक्ष बाल कल्याण समिति सुमन खरे, संरक्षण अधिकारी रूपाली सिंह, महिला थानाध्यक्ष मंजू देवी, श्रम प्रर्वतन अधिकारी के प्रतिनिधि प्रकाश चन्द्र सहित समस्त बाल कल्याण पुलिस अधिकारी व अन्य सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारी आदि उपस्थित रहे।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

%d bloggers like this: