Jan Sandesh Online hindi news website

5 सालों में 23 हजार करोड़ से भी अधिक का नुकसान इंटरनेट सेवाएं बंद होने से, जानें कश्मीर के अलावा और किन किन राज्यों में की जा चुकी ह इंटरनेट सेवाएं बाधित

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में अनुच्छेद 370 (Article 370) के बाद कर्फ्यू के साथ इंटरनेट (Internet) और टेलीफोन सेवाएं बंद कर दी थीं। देश के दूसरे भी कई इलाके हैं जहां पिछले कुछ साल में कर्फ्यू के साथ कई बार इंटरनेट भी बंद करना पड़ा है। मालूम हो कि जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा संबंधी अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने के प्रस्ताव संबंधी संकल्प और जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख में विभाजित करने वाले विधेयक को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार रात को मंजूरी दी थी। इससे पहले संसद ने भी इस विधेयक पर अपनी मुहर लगाई थी। जानें, जम्मू कश्मीर के अलावा और कहां-कहां इंटरनेट बंद होता रहा है:

उत्तर प्रदेश

और पढ़ें
1 of 618

आगरा
अप्रैल 2018 को दलित आंदोलन के दौरान दो दिन इंटरनेट सेवाएं बंद। जुलाई 2019 में मंटोला बवाल के बाद इंटरनेट सेवा बंद। कर्फ्यू नहीं रहा।
कासगंज
जनवरी 2018 को कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान हिंसा के बाद तीन दिन कर्फ्यू रहा। दो दिन इंटरनेट सेवाएं बंद।

बिहार
सीतामढ़ी
अक्टूबर 2018 को नवरात्र पर विसर्जन जुलूस में बवाल। धारा 144 लगी। सात दिन इंटरनेट सेवा बन्द रही।
भोजपुर
अक्टूबर 2017 में भोजपुर के पीरो में हिंसा के बाद 24 घंटे इंटरनेट बंद। 2018 में नवादा में भी 48 घंटे इंटरनेट सेवा रोकी गई।
पूर्वी चंपारण
2016 में तुरकौलिया और सुगौली में प्रतिमा विसर्जन के दौरान बवाल। तीन दिन इंटरनेट बंद रखा। कर्फ्यू नहीं लगा।

झारखंड
कोडरमा 
सितंबर 2018 में जयनगर में प्रतिमा विसर्जन के दौरान दो समुदायों में तनाव के बाद कर्फ्यू लगा था। दो दिन इंटरनेट सेवा ठप रही।
सरायकेला-खरसावां/जमशेदपुर
20 मई  2017 को सरायकेला-खरसावां ज़िला और जमशेदपुर में मॉब को लेकर हंगामे के बाद पूरे शहर में दो दिन कर्फ्यू लगा। इंटरनेट जारी रहा।

कश्मीर में सबसे लंबा 60 दिन लगा था कर्फ्यू 
-60 दिनों से भी ज्यादा समय तक कर्फ्यू लगा रहा था कश्मीर में जुलाई-अगस्त, 2016 में

इंटरनेट सेवाएं भी बंद 
-133 दिनों तक इंटरनेट सेवा बंद रही थी घाटी में 8 जुलाई, 2016 से 19 नवंबर, 2016 तक
-178 बार इंटरनेट सेवा बंद की जा चुकी है जम्मू-कश्मीर में पिछले आठ साल में
-53 बार इंटरनेट सेवा इसी साल बंद की जा चुकी है अब तक
-65 बार इंटरनेट सेवा बंद रही थी यहां पिछले साल

बड़ा नुकसान 
-भारत में करीब 23 हजार 800 करोड़ रुपये का नुकसान इंटरनेट सेवा बंद होने से 2012 से 2017 के बीच

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.